माया के लिए सपा से जो जवाब आया, वो है सबसे करारा

0
14
Samajwadi Party National President Akhilesh Yadav greeting to Bahujan Samaj Party Supreemo Mayawati on the occassion of her 63rd Birthday in Lucknow on Tuesday.Express photo by Vishal Srivastav 15.01.2019

Related image

यूपी की राजनीति में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी की राहें एक बार फिर से अलग हो गई हैं। बसपा सुप्रीमो मायावती ने सोमवार को घोषणा करते हुए कहा है कि वह आने वाले अब सभी चुनाव अकेले लड़ने का ऐलान कर दिया है.

इस पर समाजवादी पार्टी के मुरादाबाद से सांसद एसटी हसन ने बसपा सुप्रीमो पर हमला करते हुए कहा कि हमारी पार्टी पहले भी अकेले चुनाव लडती थी, और आगे भी अकेले ही लडेगी. अखिलेश यादव कभी फोन करके हिंदू मुस्लिम की बात नहीं करते हैं. हमारी पार्टी के पास जनाधार है. बीएसपी के पास एक भी सीट नहीं थी, अब वह 10 पर है. ये सब वे (मायावती) हमारी जुबान से क्यों कहलवाना चाहती हैं.

वही मायावती के अकेले चुनाव लड़ने वाली बात पर सपा नेता आजम खान ने कहा कि जो कुछ कहा है उन्होंने (मायावती) कहा है. हमारे तरफ से कुछ भी कहा नहीं गया है. ये राय उनकी अपनी राय है. अगर वह अकेले चुनाव लड़ना चाहती हैं तो यह उनकी राय है. जब हम साथ लड़े थे तो सबकी राय थी. सपा और बसपा उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव मिलकर लड़ी थीं, लेकिन उन्हें अपेक्षित कामयाबी नहीं मिली. अब बसपा ने अकेले चुनाव लड़ने का फैसला किया है.