सोशल मीडिया पर लड़की ने पूछा- जिन्दा रहूं या मर जाऊं? लोगों ने कहा…

0
54
black and white of sad woman hug her knee and cry. Sad woman sitting alone in a empty room beside window or door

Image result for suicide

कुछ खबरें ऐसी होती हैं, जिन पर भरोसा करना नामुमकिन सरीखा होता है. ज्यादातर ऐसी खबरें रिश्तों को शर्मसार करने वाली होती हैं, जिनके बारे में जानकर सबका सिर शर्म से झुक जाता है. इस खौफनाक मामला ने लोगो को होश उड़ा दिए. आज जिस मामले की बात हम आपको बताते जा रहे इस  मामले ने  रिश्तो की मन मरियादयो को कलंकित कर दिया.

इंस्टा पर लड़की का पोल- जिऊं या मर जाऊं? लोगों ने कहा तो दे दी जान

आज जो मामला आपको बताने जा रहे इस जानने के बाद आपके भी रौंगटे खड़े हो जायेंगे. बताते चले सोशल मीडिया की दुनिया किसी शख्स की जिंदगी को किस कदर बर्बाद कर सकती है, इसका एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. ये ल दहला  वाला मामला  मलेशिया से सामने आया है जहाँ एक 16 वर्षीय एक लड़की ने अपने सोशल एप इंस्टाग्राम अकाउंट पर अपने फॉलोअर्स से एक पोल में पूछा कि उसे मर जाना चाहिए या नहीं. जिसमे 69 फीसदी फॉलोअर्स  ने लड़की को सलाह दी कि उसे मर जाना चाहिए.

मिली जानकारी के मुताबिक पूर्वी मलेशिया की पुलिस ने इस घटना पर कहा, लड़की ने फोटो शेयरिंग ऐप पर अपनी एक फोटो शेयर करते हुए एक मैसेज लिखा था, बहुत ही जरूरी है, प्लीज D/L (Death/Life) जिंदगी और मौत के चुनाव में मेरी मदद करिए. जब ज्यादातर लोगों ने मौत के लिए वोटिंग की तो उसने आत्महत्या कर ली. लडकी की मौत पर एक एक वकील ने कहा कि जिन लोगों ने मौत के लिए वोट किया था, उन पर आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा चलना चाहिए.

वाही इस घटना पर मलेशिया के खेल मंत्री सैय्यद सादिक अब्दुल रहमान ने कहा कि ये बेहद दुखद घटना है देश में मानसिक स्वास्थ्य पर राष्ट्रीय स्तर पर विचार करने की जरूरत दर्शाती है. मैं युवाओं के मानसिक स्वास्थ्य को लेकर वाकई बहुत परेशान हूं. यह एक राष्ट्रीय मुद्दा है जिसे गंभीरता से लिया जाना चाहिए.

जानकारी के लिए आपको बता दे कि  2019 फरवरी महीने में इंस्टाग्राम ने ऐलान किया था कि वह खुद को नुकसान पहुंचाने वाली तस्वीरों को ब्लॉक करने के लिए सेंसेटिविटी स्क्रीन लाएगा. ब्रिटिश लड़की मोली रसेल की आत्महत्या के बाद ये कदम उठाया गया था. 14 वर्षीय रसेल के पैरेंट्स का कहना था कि ऐप पर आत्महत्या की तस्वीरें देखने के बाद उसने अपनी जान दे दी थी. इंस्टाग्राम APAC के अध्यक्ष चिंग यी वुंग ने कहा, हमारी संवेदना पीड़ित लड़की के परिवार के साथ है. हम इंस्टाग्राम को सुरक्षित बनाने की अपनी जिम्मेदारी समझते हैं. अगर किसी को भी लोगों की सुरक्षा को खतरा पहुंचाने वाली चीजें दिखती हैं तो वे हमारे रिपोर्टिंग टूल और इमरजेंसी सेवा का इस्तेमाल कर सकते हैं.