उन्नाव कांड को बलात्कारियों ने बनाया हथियार, इस रेप पीड़िता के घर लगाए धमकी वाले पोस्टर

0
41

देश में महिलाओं के खिलाफ अत्याचार लगातार बढ़ रहे हैं। अब उत्तरप्रदेश के बागपत में रेप पीड़िता को जान से मारने की धमकी मिली है। युवती के घर के बाहर पोस्टर चिपकाया गया है। जिसपर लिखा है, अगर कोर्ट में बयान दिया तो उन्नाव जैसी घटना तुम्हारे साथ होगी। जिसके बाद पीड़िता ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सुरक्षा की गुहार लगाई है।

एसपी प्रताप गोपेंद्र यादव ने बताया कि बड़ौत के बिजरोल गांव में एक दुष्कर्म पीड़िता के घर पर पैम्पलेट चिपकाया गया। जिसमें लिखा था कि अगर तुमने बयान दिया तो उन्नाव जैसी घटना तुम्हारे साथ होगी। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। वह बेल पर था।

दरअसल युवती का आरोप है कि करीब एक वर्ष पहले गांव के ही सोहरन नामक युवक बहाने से उसे दोस्त के कमरे में ले गया था। वहां उसे नशीला पेय पिलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। वहीं वीडियो भी बनाया और ब्लैकमेल कर कई बार ज्यादती की। जिसके बाद युवक के खिलाफ पीड़ित युवती ने मामला दर्ज करवाया था। इस मामले में 13 दिसंबर को युवती की गवाही होनी है।

फतेहपुर में भी पीड़िता को धमकी

वहीं यूपी के फतेहपुर जिले के गाजीपुर थाना क्षेत्र में एक नाबालिग लड़की को आरोपियों ने उन्नाव जैसे हश्र करने की धमकी दी है। जाफरगंज के पुलिस उपाधीक्षक (सीओ) श्रीपाल यादव ने कहा कि गाजीपुर थाना क्षेत्र में 20-25 दिन पहले एक दलित किशोरी के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक मुख्य आरोपी प्रदीप को तत्काल गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। बाकी तीन फरार अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश दी जा रही है। इसके अलावा उनके खिलाफ अदालत में कुर्की (82-83) का आदेश प्राप्त करने का भी प्रत्यावेदन दिया गया है।

उन्होंने पीड़िता और उसके परिजनों द्वारा मंगलवार को अपर पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर धमकी दिए जाने की शिकायत करने की पुष्टि करते हुए कहा, इसकी जांच की जा रही है। यदि शिकायत में उल्लेखित तथ्य जांच में सही पाए गए तो धमकी दिए जाने का एक और मुकदमा दर्ज किया जाएगा। वहीं, सामूहिक दुष्कर्म की शिकार नाबालिग लड़की के पिता ने कहा, ‘जेल गए और फरार तीन आरोपी भी उसी के गांव के हैं। उनके परिवार वाले पैसा लेकर सुलह करने का दबाव बना रहे हैं। सुलह न करने पर लड़की व हमें उन्नाव की घटना जैसे जलाकर कर मार डालने की धमकी दे रहे हैं।’