ख़बरदेश

सुषमा स्वराज को सब कर रहे हैं याद, लेकिन पाकिस्तान से बोली गई ये बात बेहद खास

सुषमा स्वराज ने दुनिया को अलविदा कह दिया. 67 साल की उम्र में. उनकी उपलब्धियों को देखते हुए कोई ज्यादा उम्र नहीं, लेकिन विधि के विधान को कोई टाल नहीं सकता. शाम तक अच्छी भली रहीं पूर्व विदेश मंत्री को अचानक हार्ट अटैक आता है, और फिर उनकी मौत की मनहूस खबर सबको मिलती है. अब हर कोई उनके जाने के गम में है. पूरी दुनिया उनको श्रद्धांजलि अर्पित कर रही है. इसी कड़ी में पड़ोसी देश पाकिस्तान से भी उनके लिए श्रद्धांजलि आई है.

इमरान खान सरकार में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने सुषमा स्‍वराज के निधन पर पर दुख जताते हुए ट्वीट किया. अपने इस ट्विटर संदेश में फवाद हुसैन ने अपने खास अंदाज में सुषमा स्वराज को याद किया.

हुसैन ने लिखा, ‘सुषमा स्वराज के परिवार को मेरी संवेदनाएं. मैं उनके साथ ट्विटर पर होने वाली बहस को बहुत याद करूंगा. वह अपने अधिकारों को लेकर बहुत मुखर थीं. भगवान उनकी आत्मा को शांति दे.’

दरअसल पाकिस्तानी मंत्री ट्विटर पर हुई जिस बहस का जिक्र कर रहे हैं वह इसी साल मार्च की है. जब होली के मौके पर दो पाकिस्‍तानी हिंदू युवतियों के अपहरण और उनका धर्म परिवर्तन किया गया था. इस पर तत्‍कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भारतीय उच्‍चायोग से रिपोर्ट तलब की थी.

जिसके बाद पाकिस्तान के सूचना मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को टैग करते हुए कहा कि यह पाकिस्तान का आतंरिक मामला है न कि नरेंद्र मोदी का भारत. इसके जवाब में सुषमा ने कहा कि आपकी घबराहट दिखाती है कि आप अपराध बोध से ग्रसित हैं.

बहरहाल, ये तो बीती बाते हैं. अब सुषमा नहीं हैं, वो नेता नहीं है जो ट्विटर के जरिए आम लोगों से लगातार जुड़ी रही.

Back to top button