ख़बरदेश

दिल का दौरा पड़ने से सुषमा स्वराज का निधन, मौत से 3 घण्टे पहले किया था ये ट्वीट

Image result for नई दिल्ली: पूर्व विदेश मंत्री और भाजपा की सीनियर लीडर सुषमा स्वराज का मंगलवार देर रात 67 साल की उम्र में दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। बता दे उन्हें सीने में दर्द की शिकायत के बाद दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती कराया गया था. जानकारी के मुताबिक वे लंबे अर्से से बीमार चल रही थीं और उनका किडनी ट्रांसप्लांट भी हुआ था। बीमारी की वजह से ही उन्होंने 2019 लोकसभा चुनाव से खुद को अलग रखा था। सुषमा स्वराज देश की पहली महिला विदेश मंत्री थीं। बीजेपी के शासन के दौरान सुषमा दिल्ली की मुख्यमंत्री भी रही थी। उन्हें दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री बनने का गौरव प्राप्त हुआ था। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, स्मृति ईऱानी और नितिन गडकरी एम्स पहुंच चुके हैं। आज शाम लोकसभा में धारा 370 बिल पास होने के बाद उन्होंने पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को ट्वीट कर बधाई दी थी।

नई दिल्ली: पूर्व विदेश मंत्री और भाजपा  की सीनियर लीडर सुषमा स्वराज का मंगलवार देर रात 67 साल की उम्र में  दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। बता दे उन्हें सीने में दर्द की शिकायत के बाद दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती कराया गया था. जानकारी के मुताबिक वे लंबे अर्से से बीमार चल रही थीं और उनका किडनी ट्रांसप्लांट भी हुआ था।

बीमारी की वजह से ही उन्होंने 2019 लोकसभा चुनाव से खुद को अलग रखा था। सुषमा स्वराज देश की पहली महिला विदेश मंत्री थीं।  बीजेपी के शासन के दौरान सुषमा दिल्ली की मुख्यमंत्री भी रही थी। उन्हें दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री बनने का गौरव प्राप्त हुआ था। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, स्मृति ईऱानी और नितिन गडकरी एम्स पहुंच चुके हैं। आज शाम लोकसभा में धारा 370 बिल पास होने के बाद उन्होंने पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को ट्वीट कर बधाई दी थी।

स्वराज, जो भारतीय जनता पार्टी की सबसे प्रमुख महिला चेहरा थीं, ने हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा, जिसमें पार्टी ने भारी बहुमत से जीत हासिल की। पिछले नवंबर में, उसने घोषणा की थी कि वह आम चुनाव नहीं लड़ेगी।

स्वराज भारत की अब तक की सबसे ‘सहस्राब्दी’ मंत्री थीं। वॉशिंगटन पोस्ट द्वारा भारत के ‘सुपरमॉम’ को ट्विटर पर सबसे अधिक फॉलो किए जाने वाले राजनेताओं में से एक होने के बाद, दिवंगत विदेश मंत्री ने अपने दौर की सोशल मीडिया उपस्थिति के साथ युवा और पुराने लोगों के साथ एक ही तरह से ताल ठोकी थी। मदद के लिए उत्सुकता, और सोशल मीडिया पर तैयार बुद्धि।

Back to top button