सेहत

ऐसे लोग भूल से भी न खाए सोयाबीन, वरना हॉस्पिटल जाने के लिए रहे तैयार

soyabeen fina

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हर कोई चाहता है वह चुस्त-दुरुस्त रहें लेकिन अफसोस कि उसे समय नहीं मिल पाता है। आज के समय मे व्यक्ति पैसा कमाने में इतना मशगुल हो चुका है कि वह अपने खाने-पीने के से लेकर स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं दे पाता है। इस लापरवाही के कारण कब शरीर में कौन सी बीमारी घर कर जाती है। इसका पता भी नहीं चल पाता है और कब यह गंभीर रूप ले लेती हैं इस बात की भी जानकारी नहीं हो पाती है आज हम आपको एक ऐसी समस्या के बारे में बताने वाले हैं जिस से आधे से ज्यादा लोग परेशान रहते हैं।

जानिए सोयाबीन  खाने से फायदे  और नुकसान 

सोयाबीन खाने के कई फायदे भी हैं, लेकिन इसके कुछ बड़े नुकसान भी हैं। ऐसे में सोयाबीन का अधिक सेवन करना आपकी जान पर भी बन सकता है। इससे पहले की सोयाबीन के नफा और नुकसान के बारे में बताए ये जान लिजिए की सोयाबीन आखिर है क्या?

आपको बता दें कि, सोयबीन एक तरह का फसल है, जो तिलहन की श्रेणी में आता है। सोयाबीन का इस्तेमाल सब्जी के तौर पर किए जाते है, सोयाबीन से तेल भी बनते जिसका इस्तेमाल खाना बनाने के काम में आता है, वहीं सोयाबीन का चाप भी बनाया जाता है, इस अलावा भी सोयाबीन का प्रयोग कई तरह से किया जाता है।

soyabeen
 

सोयाबीन में मौजूद प्रोटीन शरीर के लिए फायदेमंद होता है, लेकिन हाल में सोयाबीन को लेकर नई रिसर्च सामने आई है, जिसमें इसके कई नुकसान भी बताए गए हैं, जिसके अधिक सेवन से यह आपके शरीर पर जहर की तरह असर कता है। आइए जानते हैं इसके नफा और नुकसान के बारे में…

दिल के मरीज

दिल के मरीजों के लिए बेस्‍ट डायट माने जाने वाले सोयाबीन में प्रोटीन की मात्रा होती है, जो शरीर के जरूर होता है और इसमें मौजूद heart कॉलेस्‍ट्रॉल अधिक नुकसान नहीं पहुंचाता है, लेकिन अगर आप इसका सेवाना आय दिन करते ही रहते हैं तो आपके लिए यह खतरे की घंटी है, क्योंकि इसमें ट्रांस फैट की मात्रा होती है, जो दिल के लिए अच्‍छा नहीं होता, इसके अधिक सेवन से आपका दिल कमजोर होता जाता है।

प्रेग्‍नेंट महिलाएं

सोयाबीन पचने में अन्य भोजन के मुकाबले अधिक समय लेता है, ऐसे में अगर गर्भवती महिलाएं सोयाबीन का अधिक सेवन करती हैं तो उन्हें उलटी या दस्त जैसी सम्याओं को डर बना रहता है, जो गर्भवती महिलाओं के लिए खतरे की घंटी है। वहीं ब्रेस्‍टफीड कराने वाली महिलाओं को भी सोयाबीन के सेवन दूर रहना चाहिए।

एलर्जी

आपमें से कई सारे लोग ऐसे भी होंगे जिन्हें जिन्‍हें एलर्जी की समस्या होती है, ऐसे लोगों को भी सोयाबीन से अपने आप को दूर रखना चाहिए। या फिर जो लोग वजन बढ़ाने वाला थायरॉयड से परेशान है वह भी इससे दूर रहें।

किडनी

आपको बता दें कि सोयाबीन और इसके उत्पादों में फीटोएस्ट्रोजन नामका एक रासायनिक तत्‍व की मात्रा होती है, जो किडनी को कमजोर बनाता है, ऐसे में जो लोग किडनी की बीमारी से परेशान हैं, उन्हेंने भी इससे दूर रहना चाहिए।

यूरीन कैंसर

अगर आप मूत्राशय के कैंसर यानी (यूरीन कैंसर) से ग्रसित हैं तो आप इससे दूर ही रहें। इसके अलावा इसके सेवन से जीन्‍स में यूरीन कैंसर की संभावना भी बढ़ जाती है। यानी कि अगर आपके परिवार में किसी को ये समस्या है तो भी आपकों इससे दूर रहना चाहिए।

मधुमेह

मधुमेह यानी डायबिटीज से पीडि़त लोगों को भी सोयाबीन या बने उत्पदों से दूर रहना चाहिए। ऐसे में अगर आप सोयाबीन का सेवन करना पसंद करते हैं तो हप्ते में एक या दो बार कर सकते हैं, लेकिन इसे अपने डेली रूटीन की तरह न अपनाएं!

Back to top button