ख़बरदेश

जम्मू कश्मीर में हलचल तेज, मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद, कई नेता नजरबंद

जम्‍मू कश्‍मीर में उथल-पुथल तेज हो गई है। पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुल्ला और सज्जाद लोन को नजरबंद कर दिया गया है। केंद्र सरकार के किसी बड़े फैसले की आशंका के बीच श्रीनगर सहित राज्‍य के विभिन्‍न क्षेत्रों में सुरक्षा कड़ कर दी गई है। राजधानी श्रीनगर सहित जम्मू में भी सोमवार सुबह 6 बजे से धारा 144 लगा दी गई है। इसके अलावा किश्‍तवाड़, राजौरी और बनिहाल में कर्फ्यू लगा दिया गया है।

उमर अब्दुल्ला ने किया खुद को नजरबंद करने का दावा

सोमवार का दिन जम्मू-कश्मीर के लिए बेहद अहम हो सकता है। राज्‍य में तनावपूर्ण हालात को देखते हुए जम्मू जिला प्रशासन ने एहतियातन कड़े कदम उठाए हैं। जम्मू में मोबाइल इंटरनेट बंद रखने का आदेश जारी किया गया है। यहां के सभी स्कूल-कॉलेजों को बंद रखने के लिए कहा गया है। जम्मू यूनिवर्सिटी भी सोमवार को बंद रहेगी। साथ ही आज होने वाली सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। नई तारीखों का बाद में ऐलान किया जाएगा।

उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती (फाइल फोटो)

आधी रात को उमर और महबूबा मुफ्ती नजरबंद

कश्मीर में लगातार बदलते हालात के बीच राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती और एनसी नेता उमर अब्दुल्ला को श्रीनगर में नजरबंद किया गया है। जानकारी के लिए बता दे नजरबंद होने के बाद उमर अब्दुल्ला ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. उन्होंने ट्वीट किया कि हिंसा से केवल उन लोगों के हाथों में खेलेंगे जो राज्य की भलाई नहीं चाहते. शांति के साथ रहें और ईश्वर आप सभी के साथ रहें।

वहीं नजरबंद होने से पहले भी दोनों नेताओं ने कई ट्वीट किए। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि सुनने में आ रहा है कि जल्द ही इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया जाएगा. कर्फ्यू पास भी जारी किए जा रहे हैं. अल्लाह जाने क्या होगा. यह एक लंबी रात होने जा रही है।

महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट में लिखा कि ऐसे कठिन समय में, मैं अपने लोगों को यह विश्वास दिलाना चाहती हूं कि जो हो सकता है, हम इसमें एक साथ हों और इसका मुकाबला करेंगे। जो कुछ भी हमारा अधिकार है उसके प्रयास करने के लिए हमारे संकल्प को तोड़ा नहीं जा सकता।महबूबा मुफ्ती के इस ट्वीट को उमर अब्दुल्ला ने भी रिट्वीट किया है।

tweet_080519013218.png

 

Back to top button