बिना शर्त डॉक्टरों की हर मांगे मानीं ममता, बोलीं- न गिरफ्तारी, न एस्मा.. लेकिन हड़ताल जारी

0
3

डॉक्टरों की हड़ताल पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का बयान सामने आया है, ममता का कहना है कि उन्होंने डॉक्टरों की हड़ताल पर काफी नरमी दिखाई है, न ही उन्होंने किसी डॉक्टर की गिरफ्तारी करवाई और न  ही राज्य में एस्मा कानून लगाया, ममता ने कहा कि न चाहती हैं कि जूनियर डॉक्टर काम पर वापस आ जाएं, उनकी सभी मांगे पूरी की जा चुकी हैं, अब उन्हें भी संविधान का सम्मान करना चाहिए.

उधर इस मामले में अब केंद्र सरकार ने भी कार्रवाई शुरू कर दी है. केंद्र ने एडवायजरी जारी करते हुए राज्य सरकार से रिपोर्ट तलब की है. केंद्र ने कहा है कि डॉक्टरों की हड़ताल के कारण पूरे देश को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, पश्चिम बंगाल के अलावा और कई राज्यों के डॉक्टर भी हड़ताल में शामिल हो गए हैं.

एडवायजरी में गृह मंत्रालय ने कहा है कि मंत्रालय ने मेडिकल संगठनों, स्वास्थ्य विशेषज्ञों और डॉक्टरों से मुलाकात की है, देश के अलग-अलग हिस्सों से आए लोगों ने अपनी सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की है. केंद्र ने पश्चिम बंगाल सरकार से अपील की है कि डॉक्टरों की हड़ताल पर जल्द से जल्द एक विस्तृत रिपोर्ट भेजी जाए. इससे पहले भी केंद्र 9 जून को पश्चिम बंगाल के लिए एडवायजरी जारी कर चुका है.

बता दें कि पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों पर हुए हमले के खिलाफ सुरक्षा की मांग पर जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल पांच दिन से जारी है, जिसकी वजह से सरकारी अस्पतालों में व्यवस्थाएं चरमरा गई हैं. इससे पहले शुक्रवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तरफ से आए बातचीत के प्रस्ताव को जूनियर डॉक्टरों ने ठुकरा दिया है.