उत्तर प्रदेश

रामपुर के SP बोले-गिरफ्तारी के लिए धाराएं काफी, आज़म खान की कभी भी हो सकते हैं गिरफ्तार

एनकाउंटर मैन बोले- आजम खान के खिलाफ लगी धाराएं पर्याप्त, अब कभी भी हो सकते हैं गिरफ्तार

सपा पार्टी के दिग्गज नेता और रामपुर से सांसद आजम खान की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ती नजर आ रही हैं। बताते चले अब उनपर गिरफ्तारी का तलवार लटक रही है. जानकारी के मुताबिक बताते चले रामपुर के एसपी डॉ. अजय पाल शर्मा ने बताया कि सपा सांसद आज़म खान पर दर्ज मुकदमों के आधार पर अब उनकी गिरफ्तारी संभव है. उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि जौहर अली यूनिवर्सिटी के लिए किसानों की जमीन जबरदस्ती हड़पने को लेकर उनके खिलाफ किसानों ने 26 मुकदमे दर्ज कराए हैं. आज़म खान के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने वाले ये 26 किसान अब इलाहाबाद हाईकोर्ट भी पहुंच गए हैं.

 

Related image

गिरफ्तारी के लिए धाराएं काफी

सूत्रों के मिली जानकारी के मुताबिक बताते चले रामपुर के SP एसपी अजय पाल ने जानकारी देते हुए बताया कि इससे पहले किसानों की ओर से लगातार दर्ज हो रहे मामलों के बाद अब रामपुर शहर कोतवाली में आज़म समेत चार लोगों पर शत्रु संपत्ति का मामला दर्ज किया गया है. नायब तहसीलदार की तरफ से दर्ज किए गए इस मामले में आरोप लगाया गया है कि जौहर विश्वविद्यालय ट्रस्ट और आज़म खान को फायदा पहुंचाने के लिए ईओ ने कागजों में हेराफेरी कर गलत नोटिस जारी किया. वहीं सपा सांसद आज़म खान पर दो मुकदमे महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी करने के आरोप में दर्ज किए जा चुके हैं. ऐसे में जो धाराएं लगी है वो उनकी गिरफ्तारी के लिए काफी हैं.

26 किसानों की ज़मीन हड़पने का आरोप

बताते चले सपा सांसद आज़म खान पर साल 2003 से लेकर 2005 के बीच 26 किसानों की जमीन जबरदस्ती हड़पने और उसे जौहर अली यूनिवर्सिटी परिसर में शामिल करने का गंभीर गंभीर आरोप है. सभी किसानों ने जमीन हड़पे जाने के मामले में हाल ही में रामपुर के अजीम नगर थाने में सपा सांसद के खिलाफ आईपीसी की धारा 323, 242, 447, 506 और 389 के तहत मुकदमा दर्ज कराया है. आज़म खान के खिलाफ जमीन हड़पने के मामले में कुल 27 मुकदमे अब तक दर्ज हो चुके हैं. 26 मुकदमे किसानों की ओर से दर्ज कराए गए हैं, जबकि एक मुकदमा राज्य सरकार की ओर से राजस्व निरीक्षक ने दर्ज कराया है, इसमें भी उन पर जमीन हड़पने का आरोप लगाया गया है.

Back to top button