उत्तर प्रदेशख़बर

देवबंद से आई ये तस्वीर ऐतिहासिक है, इसके लिए पूरे 25 साल हुआ है इंतजार

आगामी लोकसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश में एसपी, बीएसपी और आरएलडी महागठबंधन की संयुक्त रैली से चुनाव प्रचार अभियान का आगाज हो गया है. करीब 25 साल बाद पहली बार बीएसपी और एसपी के नेता एक ही मंच पर साथ आकर एक दूसरे के लिए वोट मांगते नजर आए हैं. बसपा सुप्रीमो मायावती और एसपी चीफ अखिलेश यादव ने एक साथ चुनावी अभियान की शुरुआत की है.

दरअसल सपा और बसपा 90 के दशक के बाद फिर से साथ आए हैं. अरसे बाद सपा-बसपा ने हाथ मिलाया और मंच भी साझा किया, लेकिन अब तक संयुक्त जनसभा को संबोधित नहीं किया था. रविवार को सहारनपुर के देवबंद में महागठबंधन की पहली संयुक्त रैली में मायावती, अखिलेश और अजित सिंह एक मंच पर मौजूद थे. पहली बार महागठबंधन के तीनों दलों के प्रमुख नेता एक मंच पर मौजूद हैं. देवबन्द की यह रैली जामिया तिब्बिया मेडिकल कॉलेज के पास आयोजित की गई है.

इस रैली को सबसे पहले बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने संबोधित किया.  इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा, आज की भीड़ की जानकारी जैसे ही पीएम नरेंद्र मोदी को मिलेगी तो वह इस गठबंधन से घबराकर पगला जाएंगे. कभी भी वो गठबंधन के बारे में शराब के साथ-साथ और भी न जाने क्या क्या बोलने लग जाएंगे. अब उनकी इस घबराहट से आपको ये जरूर मानकर चलना चाहिए कि इस चुनाव में और खासकर यूपी से बीजेपी जा रही है और महागठबंधन आ रहा है.

बता दें कि सहारनपुर के देवबंद में पहले चरण में 11 अप्रैल को चुनाव होने हैं

 

Back to top button