खेल

क्यों बोले दादा और भज्जी : अब भारतीय क्रिकेट को भगवान ही बचा सकता है..

भारत के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली ने राहुल द्रविड़ को हितों के टकराव के मुद्दे पर भेजे गए नोटिस पर बुधवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) की आलोचना की है. BCCI के एथिक्स अधिकारी डी.के. जैन ने बैंगलोर स्थित नेशनल क्रिकेट अकादमी (NCA) के ऑपरेशन्स हेड द्रविड़ को नोटिस भेज हितों के टकराव के मुद्दे पर सफाई मांगी थी. जैन ने यह फैसला मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ (MPCA) के सदस्य संजीव गुप्ता द्वारा की गई शिकायत के बाद लिया है.

गांगुली ने ट्वीट किया, भारतीय क्रिकेट में नया फैशन है हितों का टकराव, खबरों में बने रहने का सबसे अच्छा तरीका है. भगवान भारतीय क्रिकेट की मदद करे, द्रविड़ को BCCI के एथिक्स ऑफिसर से हितों के टकराव मामले में नोटिस मिला है.

दादा के इस ट्वीट को रिट्वीट करते हुए पूर्व स्पिनर हरभजन सिंह ने लिखा, वास्तव में मुझे पता नहीं यह कहां जा रहा है..आप भारतीय क्रिकेट में उनसे बेहतर व्यक्ति नहीं देख सकते. ऐसे महान खिलाड़ियों को लिए नोटिस भेजना उन्हें अपमानित करने जैसा है. क्रिकेट की बेहतरी के लिए उनकी सेवाओं की आवश्यकता है. हां, भारतीय क्रिकेट को भगवान बचाए.

बता दें कि BCCI के एक सीनियर अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की थी और कहा था कि गुप्ता ने अपनी शिकायत में कहा है कि द्रविड़ जो हाल ही में एनसीए के ऑपरेशन्स हेड नियुक्त किए गए हैं वह इंडिया सीमेंट्स के उपाध्यक्ष भी हैं और इस कंपनी के पास आईपीएल टीम चेन्नई सुपर किंग्स का मालिकाना हक भी है.

 

 

Back to top button