उत्तर प्रदेश

सोनिया नामांकन से पहले करेंगी यह खास काम, साथ होंगे राहुल और प्रियंका

Related image

लखनऊ । यूपीए की चेयरपर्सन व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मां सोनिया गांधी ने गुरुवार को नामांकन से पहले पूजा अर्चना के बाद रोड शो शुरू कर दिया है। रोड शो में राहुल गांधी, प्रियंका वाड्रा और राबर्ट वाड्रा भी अपने बेटे और बेटी के साथ पहुंचे हैं। रोड शो में कार्यकर्ताओं का हुजूम उमड़ा है। आसपास के कई जनपदों से कांग्रेस कार्यकर्ता भी सोनिया के नामांकन में रायबरेली पहुंचे हैं। रोड शो के बाद सोनिया कलेक्ट्रेट जायेंगी और यहीं पर रोड शो समाप्त हो जायेगा।
इससे पूर्व सोनिया अपने पुरोहित गया प्रसाद शुक्ल के आवास पर पहुंचीं। इंदिरा गांधी भी यहीं से पूजा-अर्चना के बाद नामांकन करने जाती थी। नामांकन के बाद रायबरेली कार्यालय सोनिया जायेंगी और चुनावी तैयारियों की समीक्षा करेंगी।
गौरतलब हो कि रायबरेली कांग्रेस परिवार की परम्परागत सीट है। सोनिया गांधी का मुकाबला इस बार भाजपा के दिनेश प्रताप सिंह से है, जो कांग्रेस छोड़कर हाल ही में भाजपा में शामिल हुए हैं। सपा और बसपा ने रायबरेली से उम्मीदवार नहीं उतारा है। सोनिया इस सीट पर 2004 से लगातार जीतती आ रही हैं। उनके साथ अखिलेश सिंह, सतीश शर्मा और एमएलसी दीपक सिंह भी मौजूद हैं। 

लोकसभा चुनाव हो या फिर कोई और शुभ कार्य। रायबरेली शहर में चंदापुर कोठी के बगल स्थित सुपर मार्केट के पास एक मकान में बना छोटा सा गणेश मंदिर गांधी परिवार के लिए बहुत मायने रखता है। कांग्रेस नेता सोनिया गांधी हों या फिर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी या कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी कोई भी शुभ कार्य करने से पहले इस मंदिर में माथा टेकने जरूर आते हैं। यहां के गणेश जी का आशीर्वाद लेकर ही गांधी परिवार कोई काम शुरू करता है। रायबरेली से चुनाव लडऩे आया गांधी परिवार का हर सदस्य हिन्दू रीति रिवाजों के अनुसार नामांकन के पहले छोटे गणेश की पूजा करता है। इसके बाद ही नामांकन का काफिला बढ़ता है। इसी क्रम में आज भी सोनिया गांधी पहले यहां पूजा-पाठ करेंगी, फिर अपने नामांकन के लिए रवाना होंगी।

1967 से सिलसिला चालू

1967 में जब भूतपूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी रायबरेली से चुनाव लडने आयीं तक उन्होंने अपने गुरुजी गया प्रसाद शुक्ल से नामांकन से पहले पूजा पाठ करवाया था। तब गया प्रसाद शुक्ल के मकान के एक छोटे से कमरे में गणेश जी स्थापित थे। इसके बाद यह सिलसिला चल पड़ा। इसके साथ ही यह मान्यता भी बढ़ी कि यहां के गणेश जी का आशीर्वाद से लेने से हर मनोकामना पूरी हो जाती है। इंदिरा के बाद सोनिया गांधी ने भी यह परंपरा जारी रखी। अब वह आज रायबरेली संसदीय सीट से पांचवीं बार अपना नामांकन करेगीं। इसके पहले भगवान श्रीगणेश का आशीर्वाद लेगीं। फिर वह नामांकन करने कलेक्ट्रेट पहुंचेगी। उनके साथ उनके पुत्र व कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस की महासचिव और उनकी पुत्री प्रियंका गांधी भी होंगी।

 

एक माह से चल रही थी साफ सफाई

गुरुजी के पुत्र जगदीश शुक्ला बताते हैं कि घर और मंदिर की साफ-सफाई एक माह से चल रही थी। भगवान गणेश के कक्ष का रंग रोधन हो चुका है। अगल-बगल के क्षेत्र की सफाई की जा चुकी है। अब सोनिया गांधी के आने का इंतजार है। जगदीश शुक्ला के मुताबिक जब भी सोनिया गांधी और उनके परिवार के लोग रायबरेली आते हैं वह इस मंदिर की पूजा करने जरूर आते हैं।

 

इंदिरा गांधी ने दिया था नाम

गुरुजी के नाम से मशहूर गया प्रसाद का इंदिरा गांधी बहुत सम्मान करती थीं। वह उन्हें हमेशा गुरुजी के नाम से ही पुकारती थीं। यह उन्हीं का ही दिया हुआ नाम है। जगदीश बताते हैं कि गुरुजी का जन्म रायबरेली के लालगंज के नयी बाजार में हुआ था। बाद में गुरुजी का परिवार रायबरेली शहर आकर बस गया था। बाद में यह इंदिरा गांधी के सम्पर्क में आये और उनके गुरुजी बने। 1967 में उन्होंने इंदिरा गांधी के निर्वाचन के समय अपने घर में पूजा-पाठ कराया था। तब से लेकर आज तक गुरुजी के यहां गांधी परिवार पूजा-अर्चना करता आ रहा है। पहले इंदिरा गांधी यहीं पर चौपाल भी लगाया करती थीं। और जिले की जनता की समस्याएंं भी सुनती थीं।

 

Back to top button