बड़ों की बातें

हॉस्टल में रहने वाली लड़कियां कर रहीं जिस्म बेचने का धंधा, वजह जान नहीं होगा यकीन

पूरी दुनियां में वेश्यावृत्ति एक बहुत बड़ी समस्यां हैं. जिस्मफरोशी के इस धंधे में हर साल हजारों लड़कियां एंट्री करती हैं. एक बात तो तय हैं कि इस धंधे में कोई भी अपनी मर्जी से नहीं आता हैं. किसी को जबरदस्ती इसमें धकेला जाता हैं तो कोई पैसो की जरूरत के चलते ये काम करने पर मजबूर हो जाता हैं. आपको जान हैरानी होगी कि कॉलेज में पढ़ने वाली कई छात्राएं भी इस धंधे में शामिल हैं.

हाल ही में ब्रिटेन के कॉलेज में पढ़ने वाली छात्राओं को लेकर एक सर्वे हुआ था. यह सर्वे ब्रिटेन की ही एक संस्था ने किया हैं. इस सर्वे में जब लड़कियों से सवाल किए गए तो कई चौकाने वाली जानकारी सामने आई. सर्वे के मुताबिक ब्रिटेन में ब्रिटेन में होने वाले इस वेश्यावृत्ति के धंधे में ज्यादातर लड़कियां कॉलेज में पढ़ने वाली छात्राएं हैं. सर्वे में ये भी पता चला कि इनमे से कई लड़कियां वेश्यावृत्ति के धंधे से निकल कर पोर्न इंडस्ट्री में चली जाती हैं.

इस सर्वे में जब लड़कियों से उनके इस धंधे में आने का कारण पूछा गया तो ऐसे ऐसे जवाब मिले जिसने सबको हिला के रख दिया. इन कॉलेज छात्राओं का कहना हैं कि वो इस गोरख धंधे में खाने पीने और रहने की जरूरतों के चलते शामिल हुई हैं. इनमे से 53 प्रतिसत लड़कियों का कहना था कि उनके पास यहाँ अपने मकान का किराया देने तक के पैसे नहीं होते हैं जिसके चलते उन्हें वेश्यावृत्ति जैसा काम करना पढ़ता हैं. इसके अतिरिक्त यहाँ कुछ छात्राएं को ऐसी भी हैं जो वेश्यावृत्ति के धंधे में तो नहीं जाती हैं लेकिन पैसो के लिए अमीर घरानों के लोगो से शारीरिक संबंध बना लेती हैं.

सर्वे के दौरान एक और ऐसी दिलचस्प बात सामने आई हैं जिसने इस धंधे को अलग एंगल से देखने पर मजबूर कर दिया हैं. दरअसल सर्वे में पाया गया कि इस वेश्यावृत्ति के दलदल में फंसने वाली अधिकतर लड़कियों की उम्र 20 से 25 वर्ष के बीच हैं. यानी ये लड़कियां वेश्यावृत्ति में तभी शामिल हो जाती हैं जब जवान और खुबसूरत होती हैं. सर्वे में ये भी पाया गया कि इस वेश्यावृत्ति कर रही ये लड़कियां साथ में अपनी पढ़ाई भी कर रही हैं. कोई अपना ग्रेजुएशन कर रहा हैं तो कोई पोस्ट ग्रेजुएशन तक की तैयारी कर रह हैं.

 

इस सर्वे में अधिकारीयों ने छात्रों के निजी जिंदगी के बारे में भी कई सवालात किए. उनसे उनके यौन जीवन और शारीरिक संबंधो से रिलेटेड प्रश्न पूछे गए. सर्वे में लड़कियों की मानसिक स्थिति को भी जानने का प्रयास किया गया. आपको जान हैरानी होगी कि जब ये लड़कियां किसी के साथ संबंध बनाती हैं तो उस दौरान संभोग या प्यार के बारे में नहीं बल्कि अपनी लाइफ की अन्य परेशानियों और कामो के बारे में सोचती हैं. हालाँकि कई बार ये कस्टमर को ख़ुशी देने के लिए फेक एन्जॉयमेंट का ढोंग भी करती हैं.

सर्वे के अनुसार इस धंधे में 35 प्रतिसत छात्राएं तो सिर्फ इसलिए हैं क्योंकि उन्हें अपने कॉलेज या युनिवेर्सिटी की फीस भरनी हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि ब्रिटेन में वेश्यावृत्ति के धंधे पर किसी तरह की कोई रोकटोक या पाबन्दी नहीं हैं. यहाँ यहाँ कोई भी जोड़ा आपसी सहमती या पैसो का लेनदेन कर संबंध बना सकता हैं.

Back to top button