बीजेपी सरकार बनवाकर गिराएगी शिवसेना, फिर खुद संभालेगी सत्ता !

0
17

महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन पर तस्वीर अब तक साफ नहीं हुई है. इस बीच, शिवसेना सांसद संजय राउत ने एक ऐसा बयान दिया है, जो काफी चौंकाने वाला है. शिवसेना मुखपत्र सामना के कार्यकारी संपादक राउत ने कहा है कि गवर्नर सबसे बड़े दल को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करें.

संजय राउत पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ सोमवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाक़ात करेंगे. राज्यपाल से इस मुलाक़ात के सन्दर्भ में राउत ने कहा, “मैं उनसे सबसे बड़ी पार्टी को आमंत्रित करने और फिर अन्य पार्टियों को मौक़ा देने के लिए कहूँगा.” उन्होंने ये बात भी दोहराई कि मुख्यमंत्री शिवसेना का होगा और शपथ ग्रहण समारोह मुंबई के शिवाजी पार्क में होगा.

वहीं, शिवसेना के मुखपत्र सामना में रविवार को प्रकाशित अपने कॉलम रोक ठोक में राउत ने सरकार गठन के कई परिदृश्य सामने रखे थे. इसमें उन्होंने लिखा, “बीजेपी सदन में बहुमत साबित करने में नाकाम रहने के बाद शिवसेना सरकार बनाने का दावा पेश कर सकती है. NCP, कांग्रेस और निर्दलीय उम्मीदवारों की मदद से बहुमत का आँकड़ा 170 तक जाएगा. शिवसेना का अपना मुख्यमंत्री हो सकता है. उसे सरकार चलाने के लिए साहस दिखाना होगा.”

राउत ने पार्टी के पास 170 से ज्यादा विधायकों का समर्थन होने का दावा किया. उनके मुताबिक ‘महाराष्ट्र के हित में’ शिवसेना के साथ कांग्रेस और एनसीपी आ सकते हैं. बकौल राउत शिवसेना को समर्थन का आँकड़ा 175 तक पहुँच सकता है. मुखपत्र सामना में रविवार को एक फ्रंट पेज स्टोरी भी की गई, जिसमें ‘किसी भी कीमत पर, राज्य में भाजपा की सरकार नहीं होनी चाहिए’ शीर्षक से लिखा गया था कि कांग्रेस और NCP ने भाजपा को सत्ता से बाहर रखने का फ़ैसला लिया है.

हालॉंकि एनसीपी ने अब तक विपक्ष में बैठने के अपने स्टैंड से पीछे हटने के संकेत नहीं दिए हैं. वहीं, शिवसेना को समर्थन पर कांग्रेस में भी मतभेद साफ दिख रहा है. पूर्व केंद्रीय मंत्री सुशील शिंदे और संजय निरुपम जैसे नेता इसके विरोध में हैं.