Breaking News
Home / ख़बर / देश / बराबर के फॉर्मूले पर अड़े उद्धव, बोले- ये तो पहले ही तय हो गया था..

बराबर के फॉर्मूले पर अड़े उद्धव, बोले- ये तो पहले ही तय हो गया था..

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे को लेकर शिवसेना 50-50 के फार्मूले पर कायम है. शुक्रवार को शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे ने चुनावी तैयारी को लेकर पार्टी के मंत्रियों के साथ बैठक की. शिवसेना भवन में पत्रकारों से बातचीत में उद्धव ने भाजपा को एक बार फिर से लोकसभा चुनाव से पहले घोषित किए गए युति के फार्मूले की याद दिलाया. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले मेरे, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के बीच युति का फार्मूला तय हो चुका है. इस बार मैंने अलग पद्धति अपनाई है. मैंने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से शिवसेना के कोटे वाली सीटों की सूची तैयार करने को कहा है. एक से दो दिनों में मुख्यमंत्री की तरफ से सूची मिल जाएगी. इसके बाद जल्द से जल्द युति की घोषणा कर दी जाएगी. उद्धव ने दावा किया कि सीटों के बंटवारे के मुद्दे पर भाजपा और शिवसेना के बीच कोई मतभेद नहीं है.

इस बीच उद्धव ने कहा कि रत्नागिरी के नाणार में ग्रीन रिफाइनरी परियोजना का स्थानीय लोगों ने विरोध किया है. इसलिए शिवसेना की भूमिका परियोजना के खिलाफ थी. मुझे नहीं लगता है कि अभी भी स्थानीय लोगों की मानसिकता में कोई बदलाव हुआ है. मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के बयान के बाद मुझे स्थानीय लोगों का फोन आया था. सभी लोगों ने मुझसे कहा कि हम परियोजना नहीं चाहते हैं. यदि परियोजना फिर से लगाई गई तो लोगों का राज्य सरकार पर से विश्वास उठ जाएगा. आरे मिल्क कॉलोनी में प्रस्तावित मेट्रो कारेशड के लिए शिवसेना के विरोध में उद्धव ने कहा कि हमारा कारेशड का नहीं बल्कि उसकी जगह को लेकर विरोध है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या में राममंदिर के मुद्दे पर अनाप-शनाप बयानवाजी करने वालों को बयानवीर करार देने पर उद्धव ने कहा कि मैं बयानबाजी नहीं कर रहा हूं बल्कि तमाम हिन्दुओं की भावना बोल रहा हूं. उद्धव ने कहा कि मैंने कहा था कि यदि अदालत में यह मामला नहीं सुलझ पा रहा है तो सरकार को साहस करके फैसला करना चाहिए. लेकिन प्रधामंत्री को विश्वास है कि अदालत से जल्द फैसला आएगा. इसके आधार पर उन्होंने रुकने की बात कही है तो उनकी बात जायज है. उद्धव ने कहा कि विधानसभा चुनाव से पहले संभव हुआ तो मैं अयोध्या में एक बार फिर से जाऊंगा.

प्रदेश में बहुमत नहीं होने के बावजूद मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस द्वारा पांच साल सरकार चलाने संबंधी प्रधानमंत्री के बयान पर उद्धव ने कहा कि उन्होंने सही बात कही है लेकिन सरकार में रहते हुए शिवसेना ने कभी भाजपा को दगा नहीं दिया. केवल शिवसेना के मंत्रियों ने एक बार इस्तीफे की धमकी दी थी. लेकिन उसके बाद मंत्रियों ने कभी इस तरह की बात नहीं कही.
 

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com