देशराजनीति

भाजपा सरकार के खिलाफ दीदी के मंच पर शत्रु की हुंकार, दिखाए बागी तेवर…

मोदी जी राफेल पर जवाब दीजिए, नहीं तो जब तक 'थेथरई' करेंगे, आप सुनते जाएंगे देश का 'चौकीदार चोर' है: शत्रुघ्न सिन्हा

कोलकाता । तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी की पहल पर कोलकाता के ब्रिगेड परेड मैदान में आयोजित महारैली में विभिन्न राजनीतिक दलों के दिग्गज नेताओं के साथ-साथ फिल्म और टीवी जगत के सितारे भी नजर आये। मूल मंच पर ममता बनर्जी के साथ देशभर से राजनीति के दिग्गज मौजूद थे तो दूसरी ओर बनाये गये मंच पर सितारों का जमघट नजर आया। इन सितारों में बांग्ला फिल्मों के लोकप्रिय सितारे व तृणमूल सांसद देव, अभिनेत्री जून मालिया, सायंतिका, जाने-माने अभिनेता प्रसेनजीत, गायक कबीर सुमन, नचिकेता, कवि सृजात, चित्रकार शुभ प्रसन्ना, जोगेंद्र चौधरी, साहित्यिक हस्ती नरसिंह प्रसाद भादुरी समेत कई अन्य फिल्म और साहित्य जगत के लोग शामिल हैं। इसके अलावा भी कई बड़े चेहरे शामिल हैं।

ममता बनर्जी ने शनिवार को लोकसभा चुनाव 2019 से पहले सभी विपक्षी पार्टियों को मोदी सरकार के खिलाफ एक मंच पर बुलाया. इस मंच पर बीजेपी पार्टी के नेता और सांसद शत्रुघ्न सिन्हा भी नजर आए. मंच से बीजेपी नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने अपनी ही सरकार से सवाल दागे और पीएम मोदी से पूछा कि आप जब तक सवालों से भागते रहेंगे तब तक हम सबको मानना पड़ेगा कि वाकई ‘चौकीदार चोर’ है.

शत्रुघ्न सिन्हा ने ममता की रैली में कहा कि देश बदलाव चाहता है. मुझसे लोग कहते हैं कि मैं बीजेपी के खिलाफ बोलता हूं, लेकिन अगर सच कहना बगावत है तो समझो मैं भी बागी हूं. हो सकता है कि इस रैली के बाद मैं भाजपा में नहीं रहूं. बीजेपी के नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि इस क्षण तक मैं अभी भाजपा में हूं.

अभी यशवंत सिन्हा कह रहे थे कि इस रैली के बाद मैं पार्टी से जरूर निकाल दिया जाऊंगा. अगर मैं बीजेपी में हूं भी तो मैं पहले भारत के जनता का हूं. मेरी जवाबदेही और जिम्मेदारी भारत के जनता के प्रति है. मैं जो भी करता हूं और कहता हूं वह देशहित और जनहित में है. उन्होंने कहा कि देशहित से बड़ा कुछ नहीं होता. मैं पार्टी को आईना दिखाता हूं. बताता हूं कि यह लोकतंत्र है, ज्यादा ज्यादतियां मत करो.

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा

कि अटल बिहारी वाजपेयी जी के वक्त और मोदी जी के वक्त में क्या अंतर पाते हैं. मैं कहता हूं कि अटल जी के जमाने में लोकशाही थी, इस जमाने में तानाशाही है. यह नहीं चलेगा. यह ज्याददती है देश के लोगों के साथ. अचानक रातोंरात तुगलकी फरमान जारी कर दी. आपने नोटबंदी की घोषणा कर दी.

क्यों आपने नोटबंदी की घोषणा कर दी. क्या कभी सोचा कि इससे कभी रेहड़ी, पटरी वाले, किसानों, मजदूरों, युवाओं पर क्या असर पड़ेगा. बगैर किसी से सलाह लिए आपने यह किया. मैं यकीनन कहता हूं कि यह पार्टी का फैसला नहीं था. अगर पार्टी का यह फैसला होता तो आडवाणी जी, जोशी जी, यशवंत सिन्हा, शौरी जी और मुझे भी पता होता. मगर यह फैसला सीधे पीएमओ से हुआ.

नोटबंदी वाले फैसले को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि अपने ही पैसे निकालने के लिए लोगों को शर्मींदगी का सामना करना पड़ा. व्यापार बर्बाद हो गया. घर की महिलाएं, माताएं-बहनें जो घर के लोगों के लिए अच्छी नीयत से पैसे दबा कर रखी थी, वे सब अचानक हवा-हवाई हो गए. आखिर नोटबंदी का अधिकार किसने दिया. अभी नोटबंदी से उबर ही नहीं पाए थे कि जीएसटी का फरमान जारी कर दिया.

कांग्रेस के अध्यक्ष जो काबिल हैं, जिन्हें एक साल में तीन राज्यों में कांग्रेस को जीत दिलाई, उन्होंने जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स नाम दिया. अभी तक जीएसटी में 368 संशोधन किया गया. खुद जब मोदी जी मुख्यमंत्री थे, तब उन्होंने घोर विरोध किया था. जीएसटी को लेकर ऐसी घोषणा की कि जैसे दूसरी आजादी मिली हो.

उन्होंने कहा कि इससे पूजारी तबाह होने लगे. गुरुद्वारे में लंगर पर जीएसटी लग गए. यानी एक तरफ नोटबंदी, जीएसटी यानी इसे कहते हैं नीम पर करेला. आज तक किसान जिस तरह तड़प रहे हैं, उस पर सभी लोग बोल चुके हैं. सबसे बड़ी और बुरी बात है कि राफेल. मैं यह भी नहीं कह रहा हूं कि आप दोषी हैं, मगर यह भी नहीं कहूंगा कि आप दोषी नहीं हैं. आप अगर कुछ नहीं बोलेंगे और छुपाएंगे तो देश की जनता कहेगी कि वाकई देश का ‘चौकीदार चोर’ है. उन्होंने कहा कि बिहार में इसे थथरई करना कहते हैं.

अगर आप मोदी जी जब तक इस पर राफेल पर थेथरई करेंगे, तब तक आप सुनते रहेंगे चौकीदार चोर है. उन्होंने कहा कि  एचएएल ने सुखोई जैसे हवाई जहाज बनाए. HAL जो हिंदुस्तान की अपनी कंपनी है, उसे यह क़ॉन्ट्रैक्ट नहीं दिया गया, मगर जो दस दिन पहले कंपनी आई और उसने एक साइकिल तक नहीं बनाई, उसे आपने यह कॉन्ट्रैक्ट क्यों दे दिया. मोदी जी राफेल पर जवाब दीजिए, नहीं तो जब तक ‘थेथरई’ करेंगे, आप सुनते जाएंगे देश का ‘चौकीदार चोर’ है.

Back to top button