देशराजनीति

शशि थरूर का लॉजिक- अच्छा हिन्दू नहीं चाहता राम मंदिर का निर्माण

Shashi Tharoor

नई दिल्ली : एक बार फिर राम मंदिर का मुद्दा गरमा गया है. सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर विवाद पर सुनवाई शुरू होने से कुछ दिन पहले कांग्रेस नेता शशि थरूर ने विवादित बयान दिया है। शशि थरूर ने सोमवार को कहा कि ‘अच्छे हिंदू अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण नहीं चाहते।’ शशि थरूर के इस बयान पर नए सिरे राजनीतिक विवाद शुरू हो सकता है। भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने थरूर के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि थरूर का यह बयान कांग्रेस को भारी नुक्सान पहुंचाएगा।

थरूर ने कहा है, ‘कोई भी अच्छा हिंदू किसी दूसरे के पूजास्थल को गिराकर और बाबरी मस्जिद के स्थान पर राम मंदिर का निर्माण नहीं चाहता है।’ बता दें कि सुप्रीम कोर्ट 29 अक्टूबर से राम मंदिर विवाद पर सुनवाई शुरू करने जा रहा है।

इस बीच शशि थरूर का यह बयान कि ‘अच्छे हिंदू अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण नहीं चाहते’ कांग्रेस को मुश्किल में डाल सकता है। हिंदी भाषी तीन राज्यों में विधानसभा चुनावों को देखते हुए कांग्रेस पार्टी ने सॉफ्ट हिंदुत्व से आगे जाकर धार्मिक कार्ड खेला है। मध्य प्रदेश में उसने ‘राम वन गमन पथ’ का निर्माण और प्रत्येक पंचायतों में गोशाला का निर्माण कराने का वादा किया है।

कांग्रेस अपने अध्यक्ष राहुल गांधी को जनेऊधारी हिंदू और शिवभक्त बता चुकी है। ऐसे में थरूर का मंदिर वरोधी बयान कांग्रेस के लिए राजनीतिक रूप से असहज स्थिति पैदा कर सकता है। थरूर का यह सामने आने के बाद भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने निशाना साधने में देरी नहीं की। उन्होंने कहा कि थरूर के इस बयान से कांग्रेस पार्ट को भारी नुक्सान होगा। कांग्रेस थरूर के इस बयान से दूरी बना लेगी।

Back to top button