मायानगरी

शक्ति कपूर की फिल्मी लव स्टोरी, शादी करने को घर से भागी थीं श्रद्धा की मम्मी

जब आपके अंदर हुनर होता हैं तो आप हर स्थिति में खुद को साबित कर ही देते हैं. इसका ताजा उदहारण बॉलीवुड के वो चुनिंदा एक्टर्स हैं जिन्हें फिल्मों में अभिनेता की बजाए विलेन का रोल मिला लेकिन फिर भी उन्होंने इंडस्ट्री में खूब नाम कमाया. ऐसे ही एक फेमस फिल्मी विलेन हैं शक्ति कपूर. 80 और 90 के दशक में शक्ति कपूर ने कई फिल्मों में विलेन का किरदार निभा अपनी एक्टिंग की चाप छोड़ी थी. फिर बाद में उन्होंने राजा बाबु और अंदाज़ अपना अपना जैसी फिल्मों में कॉमिक रोल भी किये. खासकर कदर खान के साथ जोड़ी बनाकर उन्होंने 100 से भी अधिक फिल्मों में काम किया. लेकिन जब बात निजी जिन्दगी की आती हैं तो शक्ति अपनी ऑनस्क्रीन लाइफ से बिलकुल अलग हैं. खासकर उनका अपनी पत्नी शिवांगी कोल्हापुरी के साथ एक गहरा रिश्ता हैं. ऐसे में आज हम आपको शक्ति और शिवांगी की प्रेम कहानी बताने जा रहे हैं जो अपने आप में किसी बॉलीवुड फिल्म से कम नहीं हैं.

शक्ति कपूर दिल्ली की एक पंजाबी फैमिली से आते हैं जबकि शिवांगी मुंबई की एक मिडिल क्लास मराठी परिवार से ताल्लुकात रखती हैं. शक्ति कपूर ने पुणे के FTII इंस्टिट्यूट से एक्टिंग की पढ़ाई की थी. इसके बाद वे मुंबई काम की तलाश में आए थे. शक्ति का रियल नाम सुनील सिकंदरलाल कपूर हैं लेकिन जब उन्हें पहली फिल्म में विलेन का किरदार मिला तो उन्होने नाम बदल शक्ति रख लिया ताकि वो उनकी इमेज के साथ दमदार लगे. शिवांगी और शक्ति की पली मुलाकात 1980 में एक फिल्म शूट के दौरान हुई थी. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि शिवांगी पद्मिनी और तेजस्विनी कोल्हापुरी की बड़ी बहन हैं. ‘किस्मत’ फिल्म में पहले पद्मिनी और मिथुन चक्रवर्ती साथ काम करने वाले थे लेकिन पद्मिनी के साथ डेट्स की समस्यां होने की वजह से डायरेक्टर ने ये रोल शिवांगी को दे दिया.

इसी फिल्म में शक्ति कपूर भी थे लेकिन फिल्म की शूटिंग डेट्स कुछ इस प्रकार शेड्यूल हुई थी कि शक्ति और शिवांगी दोनी एक ही समय साथ नहीं रह पाते. हालाँकि बाद में इसमें थोड़ा परिवर्तन हुआ और दोनों को एक ही शूटिंग डेट्स मिल गई. बस यही दोनों पहली बार एक दुसरे से मिले थे. शिवांगी को शक्ति को पहली नज़र में देखते ही प्यार हो गया था. उस दौरान शिवांगी और शक्ति दोनों का ही इंडस्ट्री में कोई नाम नहीं था ऐसे में दोनों की जोड़ी बन गई और वे फिल्म शूट के बाद एक दुसरे से मिलने लगे. जल्द ही दोनों में प्यार हो गया. लेकिन जब शिवांगी ने शक्ति से शादी करने की बात घर वालो को बताई तो उन्होंने इस रिश्ते को ठुकरा दिया. वो पुरानी सोच वाला परिवार था इसलिए उन्होंने साफ़ कह दिया था कि यदि शक्ति से शादी की तो परिवार से बेदखल कर दिया जाएगा.

ऐसे में शिवांगी जब 18 की हुई तो उन्होंने शक्ति के साथ घर से भाग 1982 में कोर्ट में शादी कर ली. शक्ति के परिवार ने शिवांगी को ख़ुशी ख़ुशी अपना लिया. शादी के बाद कई सैलून तक शिवांगी और उनके परिवार ने आपस में बात नहीं की. हालाँकि जब शिवांगी ने श्रद्धा और सिद्धांत को जन्म दिया तो बाद में उनके परिवार ने पुरानी बाते भूल उन्हें अपना लिया. इसके बाद शक्ति और शिवांगी की लाइफ में सबकुछ ठीक ही चल रहा था कि 2005 में इंडिया टीवी ने बॉलीवुड के कास्टिंग काउच की सच्चाई दिखाने के लिए एक स्टिंग ऑपरेशन कर डाला. इसमें शक्ति कपूर बुरी तरह फंस गए. वे विडियो में एक स्ट्रगलिंग एक्टर को काम दिलाने के बदले संबंध बनाने की मांग कर रहे थे. इस विवाद के बाद फिल्म इंडस्ट्री ने शक्ति के ऊपर बैन लगा दिया था. हालाँकि इसे एक हफ्ते बाद ही हटा दिया गया.

शक्ति का कहना था कि उन्हें इस स्टिंग ऑपरेशन में फ्रेम किया गया हैं वो निर्दोष हैं. इस विवाद की वजह से उनके पारिवारिक जीवन में हलचल मच गई थी. हालाँकि इस मुश्किल घड़ी में भी शक्ति की बेटी श्रद्धा और शिवांगी ने उनका साथ नहीं छोड़ा. इस तरह इनके बीच का रिश्ता आपस में और भी मजबूत हो गया.

Back to top button