सेहत

आखिर शादी के बाद क्यों बढ़ जाता है महिलाओं का वजन, जानें क्या हैं लक्षण

आज के समय में वजन बढ़ना महिलाओं की सबसे बड़ी समस्या बन चुकी है, खासकर ये देखने को मिलता है कि जब किसी लड़की की शादी हो जाती है तो उसके बाद उसका वजन बढ़ना भी शुरू हो जाता है और ये एक दो महिलाओं के साथ नहीं बल्कि आधे से ज्यादा महिलाओं के साथ होता है।

जी हां ये हम नहीं कह रहे हैं बल्कि हाल ही में हुए सर्वे में ये बात सामने आई है कि शादी के पांच साल बाद 82 प्रतिशत कपल्स का वजन बढ़ना शुरू हो जाता है और वो ओवर वेट की कैटगरी में आने लगती है। अब सवाल ये उठता है कि आखिर ऐसा क्यों होता है तो बता दें कि इसके पीछे कई सारे कारण छिपे होते हैं। ऐसे में जीवनशैली में परिवर्तन और कुछ दूसरे जरूरी उपाय करके वेट कंट्रोल किया जा सकता है। अगर कुछ बातों का ध्यान रखा जाए तो वेट कंट्रोल किया जा सकता है।

वेट बढ़ने के कारण

सबसे पहली बात तो ये है कि कई लोगों का मानना ये होता है कि है कि शादी के बाद होने वाले हार्मोन परिवर्तन की वजह से महिलाओं का वजह बढ़ता है लेकिन आपको बता दें कि इसके अलावा भी अन्य कई कारण हे जो महिलाओं के वजन बढ़ाने के लिए जिम्मेदार हैं।

शारीरिक-मानसिक बदलाव

जी हां ये भी एक कारण है कई विशेषज्ञों का मानना होता है कि जब कोई महिला शारीरिक-भावनात्मक संबंधों में प्रवेश करती है तो उसका शरीर और मस्तिष्क कई तरह के बदलावों से गुजरता है। कई महिलाओं में ये बदलाव, शरीर में वसा की परतों के रूप में बाहरी रूप से दिखाई देने लगते हैं।

स्ट्रेस

अपना घर छोड़कर शादी के बाद किसी और जगह एडजस्ट करना सबसे कठिन काम है। नए घर में एडजस्ट करने में कुछ तनाव तो होता है जो कि अप्रत्यक्ष रुप से वजन पर प्रभाव डालता है।

हार्मोन परिवर्तन

विवाह के बाद शरीर में कई हार्मोन संबंधी परिवर्तन होते हैं। कमर के घेरे का आकार कुछ इंच बढ़ जाता है। इसके साथ ही भूख भी बढ़ जाती है, इन सबका असर ओवर वेट के रूप में सामने आता है।

प्राथमिकता बदल जाना

शादी के बाद लड़कियों की प्राथमिकताएं बदल जाती है। लड़कियां अपने पति और अन्य परिवार के सदस्यों के हिसाब से रूटीन बनाती है। और इसी कारण से उन्हें खुद के लिए समय नहीं मिलता और इस वजह से वजन बढ़ने लगता है।

नींद की कमी

शादी के बाद, महिलाओं के सोने का समय और पैटर्न बदल जाता है। कई बार उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती और नींद की कमी मोटापा बढ़ने का एक प्रमुख कारण है।

बढ़ती उम्र

आजकल अक्सर ऐसा होता है कि ज्यादातर महिलाएं 30 साल के बाद शादी कर रही हैं। कई अध्ययनों में ये बात सामने आई हैं कि 30 की उम्र के बाद, हमारे शरीर का मेटाबॉलिक रेट कम हो जाता है, जिससे वजन बढ़ता है। ऐसे में जीवनशैली और खान-पान में बदलाव मोटापे को गंभीर बना देता है।

प्रेगनेंसी

महिलाओं में वजन बढ़ने का यह एक महत्वपूर्ण कारण हो। अधिकांश कपल्स शादी के 1 या 2 साल बाद फैमिली प्लानिंग करते हैं। बच्चे को जन्म देने के बाद अधिकांश महिलाएं अपना वजन कम करने की कोशश नहीं करती।

इन बातों का जरूर रखें ध्यान

– आपको बताते चलें कि अपने भोजन में फाइबर की मात्रा बढ़ा दें, इससे शरीर के मेटाबॉलिज्म तो सही रहेगा ही इसके साथ ही साथ इससे भूख भी कम लगता है।
– वहीं ध्यान रहे कि पानी और दूसरे तरल पदार्थों जैसे सूप, हर्बल चाय, फलों और सब्जियों के जूस का सेवन बढ़ा दें।
-इसके अलावा जब कभी आपको भूख लगे से तो ध्यान रखेेंं भूख से थोड़ा कम खाएं।

Back to top button