Breaking News
Home / जिंदगी / सेहत / 25 से 35 वर्ष के सभी लोग जरूर पढ़ लें ये खबर, वरना पूरी जिंदगी होगा पछतावा

25 से 35 वर्ष के सभी लोग जरूर पढ़ लें ये खबर, वरना पूरी जिंदगी होगा पछतावा

आजकल के युवा कई प्रकार की समस्याओं का सामना कर रहे हैं, खास कर 25 से 35 साल के उम्र के युवा एक नहीं कई तरह की समस्याओं का सामना कर रहे हैं, चाहे वो करियर बनाने की चिंता हो या फिर हेल्थ से जुड़ी कोई समस्या हो। असल में 25 से 35 साल के भारत के युवा  एंकिलॉजिंग स्पॉन्डिलाइटिस समस्या से जूझ रहे हैं और देखा जाये तो 20 से 30 वर्ष के नौजवानों में यह सबसे मानो आम हो गयी हैं। एंकिलॉजिंग स्पॉन्डिलाइटिस का आम लक्षण पीठ के निचले भाग में दर्द होना हैं और यह काम-काज या फिर व्यायाम करने पर कम हो जाता है लेकिन आराम या सोने के समय यह दर्द बहुत बढ़ जाता है।

खतरनाक है ये बीमारी

इस बीमारी में जैसे-जैसे रोग बढ़ता हैं, वैसे-वैसे पीठ के ऊपरी भाग और गर्दन में कड़ापन बढ़ जाता हैं, इतना ही नहीं जब पीठ का लोच खत्म हो जाता हैं तो कुछ मरीज व्हीलचेयर पर आ जाते हैं। बता दें कि बायोलॉजिक्स कारगर औषधियाँ इस रोग में लाभकारी होती हैं, इससे रोग नहीं बढ़ता हैं और बायोलॉजिक्स एसएस से पीड़ित लोगो के जीवन में चमत्कारिक बदलाव देखने को मिला हैं। दरअसल आजकल की दिनचर्या ऐसी हो गयी हैं कि लोग घंटो बैठकर काम करते हैं और बीच में ब्रेक भी नहीं लेते हैं और देर तक एक ही पोजीशन में बैठे रहने के कारण ही इस तरह की समस्या उत्पन्न होती हैं।

इसलिए ज्यादा देर तक बैठ कर काम ना करे, यदि आपका काम बैठ कर करने वाला हैं तो आप बीच में उठकर कुछ देर टहले और फिर अपना काम करने लगे। ऐसा करने से आपको जोड़ो की समस्या भी नहीं होगी और आपके पैरों या पीठ में किसी प्रकार की कोई जकड़न भी उत्पन्न नहीं होगी।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस रोग की दवाई भारत में ही मिल रही हैं। इसके अलावा फिजियोथेरेपी, हाइड्रोथेरेपी, व्यायाम और शारीरिक मुद्रा में सुधार से भी आराम मिलता हैं, इसलिए इस रोग से पीड़ित व्यक्तियों को अपने वजन पर खास ध्यान देना चाहिए। दरअसल वजन बढ़ने से कई तरह की समस्या उत्पन्न हो सकती हैं। इसलिए आप अपने वजन और सेहत पर ध्यान दे क्योंकि एक बार वज़न बढ़ने पर उसे कम करना आसान नहीं होता हैं।

इतना ही नहीं वजन बढ़ने पर कई अन्य प्रकार की समस्या भी उत्पन्न हो सकती हैं। हालांकि अक्सर लोग कहते हैं कि युवाओं को किसी प्रकार की कोई समस्या उत्पन्न नहीं होती यानि की हाथ-पैर या फिर कमर के दर्द कि समस्या तो बिल्कुल भी नहीं होनी चाहिए लेकिन अब हर उम्र के लोगों को हर तरह की बीमारी हो जाती हैं। इतना ही नहीं यदि बुज़र्गों को जोड़ो या कमर में दर्द हो तो यह आम समस्या हैं लेकिन इस तरह की समस्या यदि युवाओं में देखने को मिले तो यह उनके लिए खतरनाक हैं, इसलिए इस तरह की कोई समस्या हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे क्योंकि यदि आपने इसे सामान्य मानकर इग्नोर कर दिया तो फिर आपके लिए समस्या और भी बढ़ी हो सकती है और कहीं ऐसा ना हो कि आप युवा होकर व्हीलचेयर पर ना आ जाएं।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com