जरा हट के

टीचर ने ये फोटो की सोशल मीडिया पर पोस्ट, एक बात पर भड़के पैरेंट्स, चली गई जॉब

Russian teachers post swimsuit pics in support of sacked colleague

कुछ खबरे ऐसी होती है जिपर यकीन करना थोड़ा मुश्किल सा होता है। और जब उन बातो से सामना होता है तो दिमाग कुछ देर के लिए ही हो मगर काम करना बंद कर देता है। ऐसा ही कुछ आज हम आपको बताने जा रहे है। इस मामले एक स्कूली महिला टीचर को अपनी फोटो शेयर करना इनता मंहगा पड़ा कि उसकी उसकी नौकरी ही चली गई। ऐसा क्यो हुआ ये हम इस खबर के माध्यम से आज आपको बताते है।
जानिए ऐसा क्या हुआ इस महिला टीचर के साथ

बताते चले पिछले कुछ दिनों से रूस की हजारों स्कूली टीचर इंस्टाग्राम पर अपनी स्विमसूट वाली तस्वीरें शेयर कर रही हैं। उन्होंने हैशटेग ‘टीचर भी इंसान हैं टाइटल से ऑनलाइन अभियान छेड़ रखा है। यह सारी कवायद अपनी साथी टीचर को नौकरी वापस दिलवाने के लिए हो रही थी, इसमें वे सफल भी रहे। दरअसल एक टीचर की स्विमसूट में फोटो पोस्ट करने पर नौकरी चली गई थी। इसी टीचर को जॉब वापस दिलाने के लिए बाकी टीचर्स ने ये ऑनलाइन कैंपेन छेड़ रखा है।

फोटो पोस्ट करने पर चली गई जॉब
ये एकेक बरनॉल शहर का है जहाँ  38 साल की टीचर तातियाना कुशिनिकोवा से स्कूल प्रिंसिपल ने इस्तीफा ले लिया था। वजह सिर्फ इतनी थी कि तातियाना ने सोशल मीडिया पर स्विमसूट पहने फोटो पोस्ट कर दी थी।  इसके बाद स्टूडेंट्स के पैरेंट्स ने इस पर ऐतराज जताते हुए टीचर की शिकायत कर दी कि इससे बच्चों पर बुरा असर पड़ता है। प्रिंसिपल ने दोषी मानते हुए तातियाना को जॉब छोड़ने को कह दिया था। खबर मिलते ही साथी टीचर तातियाना के सपोर्ट में आ गए। उन्होंने स्विमिंग कॉस्ट्यूम पहनकर इंस्टाग्राम पर तस्वीरें शेयर करनी शुरू कर दीं। इस अभियान के तहत सोमवार तक 1,500 से ज्यादा टीचरों ने अपनी तस्वीरें इंस्टाग्राम पर पोस्ट की थीं।

टीचर्स ने कीं ऐसी पोस्ट
टीचर अंतासिया ने अपनी फोटो के साथ पोस्ट में लिखा कि तातियाना आइस स्विमर हैं। उनके इस खेल में ऐसी ही ड्रेस जरूरी है। क्या मॉडर्न टीचर को बच्चों के पेरेंट्स और सीनियरों के हिसाब से जीना चाहिए? एक अन्य टीचर दाशा ने लिखा कि टीचर्स की कोई अलग जाति है? साइबेरिया की टीचर अलयोना ने पूछा कि क्या टीचर इंसान नहीं हैं? क्या ऐसे फोटो से दूसरों की गरिमा को ठेस पहुंचती है।
ल्यूमिडिला नाम की एक टीचर ने लिखा कि 38 साल की महिला अपनी सेहत का ख्याल अच्छे से रख रही है। क्या यह हमारे लिए एग्जाम्पल नहीं बन सकता ?

कैंपेन का हुआ असर
– ये कैंपेन बढ़ता देख वहां के एजुकेशन मिनिस्टर ने मामले में दखल दिया। मंगलवार को उन्होंने तातियाना को टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज में अप्वाइंटमेंट दे दिया। साथ ही उन्हें एक नया कोर्स भी तैयार करने की जिम्मेदारी दी गई है।
– एजुकेशन डिपार्टमेंट के अफसरों के मुताबिक, यह कोर्स टीचर्स, बच्चों और उनके पैरेंट्स द्वारा सोशल मीडिया पर शेयरिंग के सकारात्मक प्रभाव और खतरों पर आधारित होगा।
– पिछले साल जून में भी साइबेरिया की टीचर के सपोर्ट में देशभर के टीचर आ गए थे। उसे प्लस साइज कपड़ों के लिए हुए फोटोशूट में मॉडलिंग करने की वजह से नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया था।

Back to top button