गैजेट ज्ञानदेश

Reliance Jio ग्राहकों के लिए बुरी खबर, लाखों यूजर्स का डेटा हुआ लीक

Reliane Jio ने मार्च 2020 में एक टूल लॉन्च किया था जिससे कोविड-19 के लक्षण को पता किया जा सकता है। इस टूल की मदद से यूजर्स जान सकते हैं कि उन्हें कोरोना वायरस का संक्रमण हुआ है या नहीं। अब, एक रिपोर्ट में कहा गया है कि यूजर्स के कोविड-19 टेस्ट रिजल्ट रखने वाला एक डेटाबेस ऑनलाइन लीक हो गया है। सबसे बड़ी बात है कि यह डेटाबेस बिना पासवर्ड के ऐक्सिस किया जा सकता है।

TechCrunch की एक रिपोर्ट के मुताबिक, टूल के मुख्य डेटाबेस में सिक्यॉरिटी खामी होने के चलते यूजर्स के टेस्ट रिजल्ट इंटरनेट पर बिना पासवर्ड अपलोड एक्सपोज हो गए हैं। सिक्यॉरिटी में इस खामी को सबसे पहले 1 मई को सिक्यॉरिटी रिसर्चर अनुराग सेन ने पहचाना। उन्होंने पब्लिकेशन से इस बारे में संपर्क किया। रिलायंस जियो ने इसके बाद तुरंत डेटाबेस को ऑफलाइन किया और फिर बग के बारे में जानकारी दी।

रिपोर्ट के मुताबिक, लीक डेटाबेस में 17 अप्रैल से लेकर डेटाबेस को ऑफलाइन किए जाने तक लाखों रिकॉर्ड्स मौजूद थे। इस डेटाबेस में उन लोगों की जानकारियां थी जिन्होंने यह टेस्ट किया (खुद का या रिश्तेदार की उम्र और जेंडर)। प्रोफाइल क्रिएट करने के लिए साइनअप करने वाले यूजर्स के रिकॉर्ड्स भी इसमें मौजूद थे। इन रिकॉर्ड्स में उन सभी सवालों के जवाब थे जो टूल ने यूजर्स से पूछे थे जैसे यूजर के लक्षण, हेल्थ कंडीशन और वे किनके संपर्क में आए।

कुछ यूजर्स के रिकॉर्ड में उनकी लोकेशन भी शामिल थी, खासतौर पर मुंबई और पुणे के यूजर्स की। इसके अलावा उत्तरी अमेरिका और ब्रिटेन के लोगों के भी कुछ रिकॉर्ड्स इंटरनेट पर एक्सपोज हो गए।

रिलायंस जियो ने टेकक्रंच को दिए एक बयान में कहा, ‘हमने तुरंत एक्शन लिया है…यह लॉगिंग सर्वर हमारी वेबसाइट की परफॉर्मेंस को मॉनिटर करने के लिए था, इसका मकसद सिर्फ उन लोगों के लिए इस्तेमाल करना था जो खुद में कोविड-19 के कोई लक्षण होने पर सेल्फ-चेक कर रहे थे।’

Back to top button