क्राइम

रीयल एस्टेट कर्मचारी के साथ हैवानियत फिर दे दी मौत, ऐसी हालत में मिली लाश

Image result for गैंगरेप के बाद हत्या

 

लखनऊ। पारा स्थित रीयल एस्टेट कंपनी में काम करने वाली एक कर्मचारी की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई। फिर उसका शव रायबरेली के हरचंदपुर इलाके में नदी में फेंक दिया गया। पुलिस ने शनिवार को आलमबाग निवासी दरोगा पुत्र अजय यादव व अवधेश यादव, सरोजनीनगर के गुड्डू यादव को गिरफ्तार कर महिला का क्षत-विक्षत शव बरामद कर लिया। वह तीन अगस्त से लापता थी। युवती के भाई पारा थाने में उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी।

 

रीयल एस्टेट के मालिक ने दोस्तों व रिश्तेदारों के साथ मिलकर युवती से किया गैंगरेप, सिर और हाथ-पैर की हड्डियां ही बचीं रह गई शरीर में

पारा थाना के इंस्पेक्टर त्रिलोकी सिंह ने बताया कि कांशीराम कॉलोनी निवासी 27 वर्षीय युवती काकोरी के मौदा निवासी संजय यादव की कंपनी अमित इन्फ्रा हाईट्स प्राइवेट लिमिटेड में काम करती थी। उसका कंपनी के मालिक संजय से कमीशन के 25 लाख रुपये को लेकर विवाद चल रहा था। वह दूसरी नौकरी के लिए इंटरव्यू देने जा रही थी, तभी आरोपी उसे बरगलाकर ले गए और हत्या करके शव नदी में फेंक दिया। युवती से दुराचार हुआ था या नहीं, इसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में होगी।

कमीशन के पैसे हड़पना चाहता था कंपनी का मालिक

युवती के भाई ने बताया कि कंपनी मालिक संजय उसके कमीशन के 25 लाख रुपये हड़पना चाहता था। कंपनी में बुकिंग एजेंट बहन प्लॉट बिकवाती थी, जिसका उसे कमीशन मिलता था। कई बार दबाव डालने के बाद पिछले दिनों 6 लाख रुपये का चेक दिया था। उसने आरोप लगाया जिससे कि बाकी रकम न देनी पड़े, इसलिए उसने बहन की हत्या की साजिश रची।

सिर और हाथ-पैर की हड्डियां ही बचीं, कपड़ों से हुई पहचान

आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस की टीम ने हरचंदपुर स्थित नदी के पास का इलाका खंगाला तो कीचड़ से सना एक शव मिला। सिर्फ सिर और हाथ-पैर की हड्डियां ही बची थीं। कुछ कपड़े मिले, जिनके आधार पर युवती के भाई ने उसकी पहचान की। पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए अवशेष सुरक्षित रख लिए हैं। जरूरत पड़ने पर डीएनए की जांच की बात कही है।

Back to top button