सेहत

पढ़े लेडीज : शादी के बाद क्यों होती है माहवारी में देरी, जानिए इसके पीछे की वजह

हर महीने जब महिलाओं के पीरियड्स का समय आता है तब, उन्हें अपने खान-पान को लेकर सजगता बरतनी चाहिए। वरना इससे उनके पीरियड्स में नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। इस दौरान की गई गड़बड़ी पेट की कई बीमारियों को जन्म दे सकती है। साथ हीइन्फेक्शन का खतरा भी बढ़ाती है। इसलिए आपको ऐसे खाद्य पदार्थों से परहेज करने की जरूरत है जिससेआपको पेट दर्द होने लगे या फिर इसका असर पीरियड्स पर दिखे। मगर आज हम आपको कुछ ऐसी बाते बताते जा रहे जिसे जानने के बाद आप भी हैरानी में आ जायेंगी।

जानिए शादी के बाद आखिर क्यों होती है पीरियड आने में देरी 

शादी के बाद पीरियड लेट होने के कारण, पीरियड मिस होने पर क्या करें, रीज़न ऑफ़ लेट पीरियड आफ्टर मैरिज, शादी के बाद महिलाओं के जीवन में बदलाव के साथ ही उनके शरीर में भी कई तरह के बदलाव होते हैं। शादी के बाद मासिक धर्म में अनियमितता या पीरियड का देर से आना महिलाओं में एक आम समस्या है और दुनियाभर में ज्यादातर महिलाएं इस समस्या से पीड़ित हैं।

पीरियड लेट होने का मुख्य कारण:

# कभी-कभी यह समस्या बहुत स्वाभाविक होती है तो कभी-कभी गंभीर बीमारियों से जुड़ी होती है। शादी के बाद पीरियड देरी से आने का कई कारण होता है और एक कारण प्रेगनेंसी भी होती है।

# लेकिन पीरियड रूकने या देरी से आने का अर्थ हमेशा प्रेगनेंसी ही नहीं होती है इसलिए पीरियड रूकने पर जांच कराकर कारणों का पता कर लेना चाहिए।

# शादी के बाद महिलाएं सेक्सुअली रूप से अधिक एक्टिव हो जाती हैं जिससे ज्यादातर महिलाएं रोज सेक्स करने और अनचाही प्रेगनेंसी से बचने के लिए गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करती हैं। इसकी वजह से महिलाओं का मासिक धर्म अनियमित हो जाता है।

# गर्भनिरोधक गोलियां हार्मोन्स को गड़बड़ कर देती हैं जिसके कारण शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ जाता है और हार्मोन असंतुलन की समस्या उत्पन्न हो जाती है। यही कारण है कि महिलाओं का पीरियड देरी से आता है या मासिक धर्म चक्र अनियमित हो जाता है।

Back to top button