देश

आजाद आवाज को दुनिया का सलाम, रवीश कुमार को ‘एशिया का नोबेल’ पुरस्कार

हिन्दी टीवी पत्रकारिता में अहम योगदान देने के लिए वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार को एशिया के नोबेल यानी रैमॉन मैगसेसे अवार्ड से सम्मानित किया गया है. साल 2019 में इस सम्मान के लिए चयनित किए गए पांच नामों में भारतीय पत्रकार रवीश कुमार का नाम भी शामिल है. ये मौका 12 साल बाद आया है, जब किसी भारतीय को मैगसेसे सम्मान मिला है. रवीश कुमार यह अवार्ड पाने वाले 11वें भारतीय पत्रकार हैं.

पुरस्कार संस्था ने ट्वीट कर बताया कि रवीश कुमार को यह सम्मान “बेआवाजों की आवाज बनने के लिए दिया गया है.” रेमन मैगसेसे अवार्ड फाउंडेशन ने इस संबंध में कहा, “रवीश कुमार का समाचार कार्यक्रम ‘प्राइम टाइम’ आम लोगों की वास्तविक जीवन से जुड़ी समस्याओं से संबंधित है ” अवॉर्ड संस्था ने कहा, “यदि आप लोगों की आवाज बन गए हैं, तो आप एक पत्रकार हैं.”

बता दें कि रैमॉन मैगसेसे पुरस्कार एशिया के व्यक्तियों और संस्थाओं को उनके अपने क्षेत्र में विशेष रूप से उल्लेखनीय कार्य करने के लिए प्रदान किया जाता है. यह पुरस्कार फिलीपीन्स के भूतपूर्व राष्ट्रपति रैमॉन मैगसेसे की याद में दिया जाता है.

रेमन मैगसेसे पुरस्कार प्राप्त करने वाले भारतीय पत्रकार

  1. 2019- रवीश कुमार
  2. 2007- पालागुम्मि साईनाथ
  3. 1997- महाश्वेता देवी
  4. 1992- रवि शंकर
  5. 1991- के वी सुबबना
  6. 1984- रासीपुरम लक्ष्मण
  7. 1982- अरुण शौरी
  8. 1981- गौर किशोर घोष
  9. 1975- बूबली जॉर्ज वर्गीज
  10. 1967- सत्यजित राय
  11. 1961- अमिताभ चौधरी

 

Back to top button