प्रभु श्रीराम से जुड़े तीर्थस्थलों की यात्रा कराएगी ‘रामायण एक्‍सप्रेस’, ट्रेन के भीतर बजेंगे कीर्तन

0
36

नई दिल्ली । भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) देश में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिये मार्च में रामायण एक्सप्रेस को शुरू करने जा रहा है। यह रेलगाड़ी पूर्व में शुरू की गई रामायण एक्सप्रेस के मुकाबले कई अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होगी।

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव ने शुक्रवार को यहां संवाददाताओं से बातचीत में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बोर्ड ने इसे मंजूरी दे दी है। असल में रामायण सर्किट ट्रेन को अपडेट करके होली के बाद मार्च अंत में चलाया जाएगा। अगले सप्ताह ट्रेन का सालभर का पूरा कार्यक्रम (समय-सारणी) घोषित कर दिया जाएगा। इसमें ट्रेन के स्टेशन, किराया आदि सभी शामिल होंगे। यह ट्रेन स्पेशल ट्रेन होगी। ट्रेन के बाहर रामायण की कथा को बयां करने वाले चित्रों को दर्शाया जाएगा। ट्रेन के अंदर रामभक्ति के भजन और चौपाई आदि के माध्यम से रामायण की थीम का माहौल होगा।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में चल रही रामायण सर्किट ट्रेन से यह दो तीन तरह से अलग होगी। इसमें लगने वाले डिब्बे अत्याधुनिक होंगे। रेलगाड़ी में वातानुकूलित एवं गैर वातानुकूलित दोनों तरह के कोच होंगे। ऐसा होने से निम्न और मध्य आय वर्ग के लोग भी भगवान राम से जुड़े तीर्थ स्थलों की यात्रा कर सकेंगे।

यादव ने कहा कि सालभर की समय सारणी घोषित होने से लोग अपने हिसाब से बुकिंग करवा सकेंगे। सालभर का यह शिड्यूल अलग-अलग स्थानों से मूल स्टेशन (अरिजनैट) होगा। यह उत्तर, दक्षिण, पूर्व और पश्चिम से चलाई जाएगी ताकि हर जगह के यात्री उसका इस्तेमाल कर सकें।