चांद के दीदार के साथ कल से शुरु होगा रमज़ान, जानिए कब होगा सबसे लंबा रोजा…

Ramadan 2018- Khabar IndiaTV

मुस्लिम समुदाय का पवित्र महीना रमजान शुरु हो रहा है। मुस्लिम धर्म गुरुओं के अनुसार अगर बुधवार को चांद दिखाई देता है तो गुरुवार को पहला रोजा हो सकता है और गुरुवार को चांद नजर आया तो पहला रोजा 18 मई से शुरु होगा।

 मुस्लिम समुदाय का पवित्र महीना रमजान शुरु हो रहा है। मुस्लिम धर्म गुरुओं के अनुसार अगर बुधवार को चांद दिखाई देता है तो गुरुवार को पहला रोजा हो सकता है और गुरुवार को चांद नजर आया तो पहला रोजा 18 मई से शुरु होगा। जो कि 15 जून को आखरी जुमे के साथ समाप्त होगा। जिसे अलविदा जुमा कहा जाता है। जिसके दूसरे दिन ईद मनाई जाएंगी।

आपको बता दें कि इस बार बहुत बड़ा रोजा पड़ेगा। वह है 14 जून को। जो कि 14 से 15 घंटे से पहले खत्म न होगा। वहीं 11 जून को शब-ए-कद्र मनाई जाएगी।

पूरे 30 दिनों का होता है रमजान

आपको बता दें कि रमजान पूरे 30 दिन का होता है। जिसे इस्लामी कैलेंडर में हिजरी कहा जाता है। यह महीना मुसलमानों के लिए बहुत ही खास होता है।  इसे 5 स्तंभों में से एक माना जाता है।

रमजान के चलते बाजार में भी चहल-पहल का माहौल है। लोग सहरी और रोजा इफ्तार के लिए खजूर, रमजानी ब्रेड, फैनी, ड्राईफ्रूट, चना, फल आदि की खरीदारी कर रहे हैं। रोजा इफ्तार के समय खजूर और फल, ड्राइफू्ट्स, उबले हुए चने आदि का सेवन करते हैं। इससे प्यास कम लगती है और जल्द शरीर में ताकत देते हैं।

जानिए इफ्तार का समय

पिछली बार की तरह इस बार भी पहला रोजा करीब 15 घंटा 11 मिनट व अंतिम रोजा 15 घंटा 35 मिनट का होगा। पहले रोजे में सुबह 3:33 बजे सहरी और शाम 6:44 बजे इफ्तार किया जायेगा। आखिरी रोजे में सुबह 3:22 बजे सहरी और शाम 6:57 बजे इफ्तार होगा।

रमजान होता है नेकियों और इबादतों का महीना

इस महीने में भगवान की दी हर नेमत के लिए अल्लाह का शुक्र अदा किया जाता है। महीने के बाद शव्वाल की पहली तारीख को ईद उल फितर मनाया जाता है। इस महीने दान पुण्य के कार्यों करने को प्रधानता दी जाती है। इसलिए इस महीने को नेकियों और इबादतों का महीना कहा जाता है।