Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / राजभर ने जिनको बनाया अपना प्रत्याशी, वो निकला सपाई, बोला-मुझे क्यों दिया टिकट

राजभर ने जिनको बनाया अपना प्रत्याशी, वो निकला सपाई, बोला-मुझे क्यों दिया टिकट

5 से 7 वें चरणन के लिए उतारे 39 प्रत्याशी

उत्तर प्रदेश की सरकार में मंत्री रहते हुए लगातार भाजपा सरकार के नाक में दम करते रहने वाले सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने आज भाजपा को करारा झटका देते हुए उत्तर प्रदेश के अंतिम तीन चरणों के चुनाव में होने वाली सीटों पर अपने दल के 39 प्रत्याशी लड़ने का ऐलान कर दिया|

ओमप्रकाश राजभर ऐलान भी क्या गजब किया, जिस समाजवादी पार्टी के जिला पंचायत सदस्य दरोगा बियार का सुलहदेव भारतीय समाज पार्टी से कोई संबंध नहीं था उसे टिकट दे दिया। टिकट सूची में नाम आने के बाद दरोगा बियार भी अचरज में हैं और सफाई देते फिर रहे हैं। बताते चले प्रत्यशियों की घोषणा की। इसमे वाराणसी, गोरखपुर के साथ मिर्ज़ापुर से भी प्रत्याशियों को मैदान में उतारा है। मिर्जापुर से दरोगा बियार को टिकट दिया है।

मिर्जापुर जिले के जमालपुर ब्लॉक के रीवां गांव निवासी दरोगा बियार समाजवादी पार्टी से जिला पंचायत सदस्य चुना गया है। साथ ही जिला समाजवादी कार्यकारिणी में सदस्य भी हैं। टिकट मिलने पर दरोगा बियार से बात की गई तो उसने बताया कि मैंने कोई आवेदन नहीं किया तो मेरा नाम कैसे आ गया। मैं समाजवादी पार्टी का सिपाही हूं।

राजभर ने कहा कि 2017 के विधानसभा चुनाव में पूर्वांचल की लगभग सवा 100 सीटों पर वोट दिला कर पहली बार इतिहास में सवा सौ सीटें जिता कर इतिहास रचा सरकार बनने पर मंत्री बनाया गया तो गरीब वंचितों की आवाज बने हम 2019 के चुनाव में आज भी हमारी इच्छा भाजपा के साथ चुनाव लड़ने की है| भाजपा ने कई सहयोगी दलों को सीटें दी लेकिन हमें देने पर राजी नहीं है कहते हैं कि भाजपा के चिन्ह पर चुनाव लड़े अपने खून पसीने से बनी पार्टी को हम खत्म करने पर राजी नहीं है|

राजभर ने कहा कि हमने तय किया है कि हम स्वतंत्र रूप से चुनाव लड़ेंगे 39 सीटों पर हमारे प्रत्याशी मैदान में होंगे गरीब वंचितों से अपील की जिसकी हिस्सेदारी नहीं हम हिस्सेदारी देंगे हमारे प्रत्याशी को जिताये सपा बसपा कांग्रेस ने एक भी टिकट हमारी बिरादरी को नहीं दिया|

इस बीच बताते चले जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ेगा प्रश्नों के उत्तर देते हुए राजभर ने कहा कि भाजपा कहती है कि हमारा समझौता विधानसभा में है लोकसभा में नहीं तो हमारा सहयोग भी भाजपा के साथ विधानसभा में रहेगा त्यागपत्र के सवाल पर कहा कि मुख्यमंत्री एक फोन करें इस्तीफा देने को तैयार हूं गरीबों के लिए जान देने को तैयार हूं उन्होंने कहा कि प्रथम चरण के चुनाव में हमारे दल के सिपाहियों ने स्पष्ट ना होने के कारण नोटा का बटन दबाया जिस दिन गिनती होगी सब पता चल जाएगा|

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com