राहुल बोले-हमें संसद में बस कुछ मिनट मिल जाए, पीएम मोदी खड़े नहीं हो पाएंगे 

मैं 15 मिनट संसद में बोलूंगा तो पीएम मोदी खड़े नहीं हो पाएंगे: राहुल गांधी

राहुल गांधी ने न्यूज एजेंसी मीडिया से बातचीत में कहा, ‘पीएम संसद में खड़े होने से डरते हैं. हमें 15 मिनट को भाषण मिल जाए संसद में पीएम खड़े नहीं हो पाएंगे. चाहे वह राफेल का मामला हो या, चाहे वो नीरव मोदी का मामला हो, पीएम मोदी खड़े नहीं हो पाएंगे.

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार केा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाने पर लिया है. राहुल गांधी ने न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में कहा, ‘पीएम संसद में खड़े होने से डरते हैं. हमें 15 मिनट को भाषण मिल जाए संसद में पीएम खड़े नहीं हो पाएंगे. चाहे वह राफेल का मामला हो या, चाहे वो नीरव मोदी का मामला हो, पीएम मोदी खड़े नहीं हो पाएंगे.

देश में जारी कैश किल्लत पर राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी ने देश की बैंकिंग व्यवस्था को तहस-नहस कर दिया है. नीरव मोदी 30 हजार करोड़ लेकर भाग गया, लेकिन पीएम एक शब्द नहीं बोल पाए. हमारी जेब से 500 और 1000 रुपए के नोट छिनकर नीरव मोदी को दे दिया गया और हम एटीएम की लाइन में खड़े होने को मजबूर हैं.

अपने संसदीय क्षेत्र में गए हुए हैं राहुल गांधी

मालूम हो कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार से अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी में हैं. सोमवार को उन्होंने पाली गांव में उन्होंने किसानों की समस्याएं सुनी. किसानों ने राहुल को सिंचाई की दिक्कत, खराब सड़क, आवारा जानवरों से परेशानी और फसल के उचित दाम न मिलने जैसी समस्याएं बताईं. राहुल ने उनकी समस्याएं संसद में उठाने का भरोसा दिलाया.

तीन दिवसीय अमेठी-रायबरेली दौर के लिए राजधानी लखनऊ स्थित अमौसी एयरपोर्ट पहुंचे, जहां पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, पूर्व राज्यसभाउ सदस्य प्रमोद तिवारी समेत कई नेताओं व कार्यकर्ताओं ने पुष्पगुच्छ प्रदान कर उनका स्वागत किया, वहीं कुछ कार्यकर्ताओं ने राहुल को घेर लिया और पार्टी की प्रदेश इकाई में दलालों को संरक्षण दिए जाने व पैसे लेकर टिकट बांटने की शिकायत की.

राहुल ने कार्यकर्ताओं की बात सुनी और कार्रवाई का आश्वासन देकर उन्हें शांत कराया. इसके बाद अमेठी रवाना हो गए.

राहुल गांधी रास्ते में हैदरगढ़ में रुके और एक खेत में काम करते हुए किसानों से बात की और उनकी समस्याएं सुनी. अमेठी में राहुल शुकुल बाजार में वरिष्ठ कांग्रेस नेता उमानाथ द्विवेदी के निधन पर उनके घर पहुंचे और परिजनों को सांत्वना दी.

इसके बाद वह पाली गांव में किसानों से मिले और उनकी समस्याओं को जाना. उन्होंने कहा कि वह किसानों की समस्याओं को लेकर गंभीर हैं, ये सारी बातें संसद में उठाएंगे.