ख़बरदेश

राहुल ने दोहराई विवादित बात- आडवाणी को मोदी ने मारी लात

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ताबड़तोड़ चुनावी रैलियां कर रहे हैं. शनिवार को राहुल गांधी ने उत्तराखंड के पौड़ी जिले के श्रीनगर गढ़वाल, अल्मोड़ा और हरिद्वार में  जनसभा को संबोधित किया. हरिद्वार में जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने एक बार फिर अमर्यादित भाषा का उपयोग करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधा. राहुल गांधी ने कहा, ‘नरेन्द्र मोदी हिंदू धर्म की बात करते है. हिंदू धर्म में सबसे जरूरी चीज गुरु होता है. आडवाणी जी नरेन्द्र मोदी के गुरु है. आडवाणी जी की हालत देखी है आपने? आडवाणी जी को स्टेज से लात मार के उतार दिया गया है.’

इससे पहले शुक्रवार को भी राहुल गांधी ने महाराष्ट्र के चंद्रपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए अमर्यादित भाषा का उपयोग किया था. राहुल गांधी ने कहा था, ‘हिंदू धर्म में सबसे जरूरी गुरु होता है. मोदी जी के गुरु आडवाणी है. लेकिन मदी जी अपने गुरु के सामने कभी हाथ तक नहीं जोड़ते. स्टेज से उठाके आडवाणी जी को नीचे फेंक दिया. जूता मार के नीचे उतार दिया.. और मोदी जी हिंदू धर्म की बात करते हैं.’ राहुल गांधी ने पूछा कि ऐसा कहा लिखा है कि हिंदू धर्म में ऐसा कहा लिखा है कि हिंसा करनी चाहिए.. कही नहीं लिखा है.’

हरिद्वार की जनसभा में राहुल ने ये भी कहा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिर्फ झूठे सपने दिखाते हैं. आप जो भी सपना देखना चाहते हैं वह उन्हें दिखाते हैं. उन्‍होंने जनता से सवाल किया, ‘गंगा के किनारे रहते हैं, क्या गंगा साफ हुई’. राहुल गांधी ने अपनी न्याय योजना की चर्चा की और कहा कि यह हिंदुस्तान के गरीबों के लिए है. सभी की गरीबी दूर होगी. यहां पर कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी को गंगा जल और जनेऊ की माला भेंट की.

इससे पहले अल्मोड़ा के सिमकनी मैदान की जनसभा में 24 मिनट के अपने संबोधन में राहुल ने भाजपा पर जमकर हमला बोला. राहुल गांधी ने कहा, मोदी पूंजीपतियों को फायदा दिला रहे हैं. अमित साहब के खाते में 700 करोड़ हैं, लेकिन गरीब के पास खाने तक को कुछ नहीं.

अल्मोड़ा से पहले राहुल गांधी ने श्रीनगर गढ़वाल में जनसभा को संबोधित किया था. यहां पर एक बार फिर राहुल गांधी ने ऐलान किया कि अगर उनकी केंद्र में सरकार बनती है तो फिर पैरामिलिट्री के शहीद होने वाले जवानों को भी शहीद का दर्जा मिलेगा. वहीं राहुल गांधी ने कहा, NYAY की अवधारणा 21 वीं सदी में गरीबी उन्मूलन के इरादे से आई है. यह गरीबी पर सर्जिकल स्ट्राइक है. उन्होंने कहा, पीएम मोदी का 15 लाख रुपये देने का वादा झूठा निकला है, कांग्रेस 12 हजार से कम आमदनी वाले गरीबों को 72 हजार रुपये सालाना देगी. पांच साल में सभी के अकाउंट में सीधे 3 लाख 60 हजार दिए जाएंगे.

 

Back to top button