देश

कांग्रेसी घोषणापत्र पर प्रियंका गांधी का पहला रिएक्शन खास, युवाओं के भी जोड़े हाथ

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को पार्टी मुख्यालय में लोकसभा चुनाव-2019 के लिए घोषणापत्र जारी कर दिया। इसे ‘हम निभायेंगे’ नाम दिया गया है। इसमें न्याय, योजना, रोजगार, किसान, शिक्षा और स्वास्थ्य से जुड़ी पांच बड़ी घोषणा की गई हैं।

राहुल गांधी ने कहा कि पार्टी सरकार में आने पर राष्ट्रीय और आंतरिक सुरक्षा पर विशेष ध्यान देगी।  कांग्रेस ने अपने चुनाव चिह्न पंजे की तरह पांच बड़ी घोषणायें की हैं। कांग्रेस देश के लोगों को ‘न्यूनतम आय योजना’ (न्याय) योजना देगी। प्रधानमंत्री ने पिछली बार अपने चुनाव वादे में 15 लाख रुपये देने का वादा किया था। वह झूठा निकला है। कांग्रेस हिन्दुस्तान के गरीब की जेब में 72 हजार रुपये हर साल डालेगी। यह पार्टी की ओर से पहली गारंटी है और हम देश के 20 प्रतिशत सबसे गरीब परिवारों को पैसा देंगे।

उन्होंने कहा कि रोजगार के मुद्दे पर कांग्रेस ने घोषणापत्र में कहा है कि हम 2020 मार्च तक देश के 22 लाख खाली पड़े सरकारी पदों को भरेंगे। 10 लाख युवाओं को ग्राम पंचायतों के माध्यम से रोजगार दिया जाएगा। युवा अगर कोई नया काम शुरू करना चाहता है तो वह तीन साल तक बिना किसी अनुमति के काम कर सकेगा। सरकार उसे बैंकों के माध्यम से सहायता देगी। महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार योजना (मनरेगा) के तहत 150 दिन के रोजगार की गारंटी दी जाएगी।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी की मौजूदगी में ‘जनआवाज घोषणापत्र’ जारी किया. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी इस घोषणापत्र की तारीफ की है. उन्होंने कहा है कि युवाओं को इस मेनिफेस्टो को जरूर पढ़ना चाहिए.

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर इस घोषणापत्र को शानदार बताया और कहा कि वह सभी से, खासकर युवाओं से अपील करती हैं कि इस घोषणापत्र को जरूर पढ़ें. प्रियंका ने अपील करते हुए कहा कि इस चुनाव को मुख्य मुद्दों के आधार पर ही आगे बढ़ने दें.

बता दें कि इससे पहले भी प्रियंका ने अपने संबोधनों में इस बात का जिक्र किया है कि भाजपा कई तरह की बातें कहकर मुख्य मुद्दों से चुनाव को भटका रही है, लेकिन इस बार सभी को रोजगार, किसान और महिला सुरक्षा के मुद्दे पर ही मतदान करना चाहिए.

मंगलवार को कांग्रेस मुख्यालय में जारी किए गए घोषणापत्र में गरीबों को साधने के लिए न्याय योजना का ऐलान किया गया है, जिसमें देश की 20 फीसदी गरीब जनता को 72 हज़ार रुपये सालाना देने का वादा है. इसके अलावा किसानों को साधने के लिए अलग से किसान बजट की बात कही गई है.

इसके अलावा युवाओं वोटरों के लिए कांग्रेस ने स्टार्टअप की बात कही है, जिसमें किसी भी नए रोजगार को शुरू करने में तीन साल तक कोई भी फीस नहीं देनी पड़ेगी. साथ ही रोजगार के मुद्दे के लिए सरकारी नौकरियों में खाली पड़े 22 लाख पदों को जल्द से जल्द भरने की बात कही गई है.  घोषणापत्र जारी होते वक्त प्रियंका गांधी कांग्रेस मुख्यालय में ही मौजूद थीं. हालांकि, वह मंच पर नहीं बैठी थीं. प्रियंका अन्य महासचिवों और कार्यकर्ताओं के साथ ही बैठीं.

Back to top button