उत्तर प्रदेश

यूपी में मिशन-2022 पर प्रियंका, तय की जिलाध्यक्षों की आयुसीमा

उत्तर प्रदेश में लोकसभा की महज एक सीट जीतने के बाद कांग्रेस पार्टी मिशन 2022 पर फोकस कर रही है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर संगठन को हर स्तर पर मजबूत करना शुरू कर दिया है. इस कड़ी में प्रियंका ने जिलाध्यक्षों की आयु सीमा भी तय कर दी है. अब कांग्रेस पार्टी में 40 की आयु पार वाला कोई भी नेता जिलाध्यक्ष नहीं बन सकेगा.

दरअसल प्रियंका लोगों के बीच में सिर्फ युवा चेहरों को भेजना चाहती हैं. वे उत्तर प्रदेश में संगठन को नए सिरे से तैयार करने जा रही है. इसके लिए उन्होंने 40 साल की उम्र सीमा के साथ-साथ महिला, ओबीसी और दलित चेहरों को ज्यादा से ज्यादा जिम्मेदारी देने पर काम कर रही हैं.

जानकारी के मुताबिक प्रियंका गांधी ने ग्राउंड लेवल पर संगठन में फेरबदल की कवायद लोकसभा चुनाव में मिली करारी शिकस्त के बाद ही तेज कर दी थी. उन्होंने ने यूपी में काफी दौरे किए, लेकिन यहां कि 80 लोकसभा सीटों में उनकी पार्टी को सिर्फ एक मात्र सीट रायबरेली ही मिल पाई. यहां तक कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष और स्टार कैंपेनर राहुल गांधी को भी अपनी अमेठी सीट गंवानी पड़ी. इस हार के बाद प्रियंका ने 2022 में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव के लिए रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है. बताया जा रहा है कि जुलाई से वह पूर्वी यूपी के दौरे पर निकलेंगी.

लोकसभा चुनाव में भले ही प्रियंका गांधी चुनावी मैदान में नहीं उतरी हों, लेकिन उन्होंने पार्टी की जीत के लिए हर संभव प्रयास किया. पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने खुद प्रियंका गांधी और कांग्रेस के युवा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को उत्तर प्रदेश की सभी 80 सीटों की कमान सौंपी थी, लेकिन रायबरेली के अलावा कांग्रेस को यूपी से कोई सफलता हाथ नहीं लगी. बता दें कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने उत्तर प्रदेश में शानदार प्रदर्शन किया है. वहीं सपा-बसपा के बीच हार के बाद गठबंधन टूट चुका है. ऐसे में यूपी में साल 2022 में होने वाला चुनाव दिलचस्प होगा.

 

Back to top button