उत्तर प्रदेश

ट्विटर पर प्रियंका गांधी और यूपी पुलिस में छिड़ी बहस, जानिए क्यों ?

नयी दिल्ली,.  कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी वाड्रा ने आरोप लगाया है कि उत्तेर प्रदेश की योगी सरकार अपराध रोकने में नाकामयाब हो रही है और जिस तरह से वहा आपराधिक वरदातें बढ़ रही उससे लगता है कि राज्य सरकार ने अपराधियो के समक्ष आत्मसमपर्ण कर दिया है। प्रियंका ने शनिवार को ट्वीट कर कहा,“ पूरे उत्तर प्रदेश में अपराधी खुलेआम मनमानी करते घूम रहे हैं। एक के बाद एक अपराधिक घटनाएँ हो रही हैं। मगर उ.प्र. भाजपा सरकार के कान पर जूँ तक नहीं रेंग रही।” उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार में अपराध तेजी से बढ़ रहे हैं। इससे साबित होता है कि सरकार उनको रोकने में असफल हो रही है। उन्होंने सवाल किया,“क्या उत्तर प्रदेश सरकार ने अपराधियों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है?”

यूपी सरकार पर निशाना साधते हुआ कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश में अपराधों का हवाला देकर ट्विटर पर लिखा है कि योगी आदित्यनाथ सरकार ने अपराधियों के सामने सरेंडर कर दिया है। प्रियंका के ट्वीट कर कहा की यूपी सरकार ने तो जवाब नहीं दिया है लेकिन यूपी पुलिस ने अपने ट्विटर हैंडल से कांग्रेस नेता को जवाब दिया। यूपी पुलिस ने कहा है कि राज्य में डकैती, हत्या, लूट एवं अपहरण जैसी घटनाओं में अप्रत्याशित कमी आई है। यूपी पुलिस के मुताबिक 2 साल में 81 क्रिमिनल मारे गए और 9225 गिरफ्तार हुए हैं।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी में हो रहे आये दिन आपराधिक घटनाओं की सुर्खियां बनी खबरों का एक कोलाज पोस्ट करते हुए लिखा, की “पूरे यूपी में अपराधी खुलेआम दबंगई कर रहे है अपनी खुलेआम मनमानी करते घूम रहे हैं, एक के बाद एक अपराधिक घटनाएं हो रही हैं,  मगर मोदी सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही,  क्या उत्तर प्रदेश सरकार ने अपराधियों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है?”

प्रियंका के ट्वीट का जवाब देते हुए यूपी पुलिस ने कहा कि हमारी पुलिस अपराधियों के विरुद्ध सख्त कदम उठा रही है। इसमें पुलिस को कामयाबी भी मिली है। यूपी पुलिस के दावे के मुताबिक राज्य में डकैती, हत्या, लूट एवं अपहरण जैसी घटनाओं में कमी आई है।

मिली जानकारी के मुताबिक बताते चले इस मामले में कांग्रेस नेता के ट्वीट पर जवाब देते हुए यूपी पुलिस ने ट्वीट किया, “गम्भीर अपराधों में यूपी पुलिस द्वारा अपराधियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की गयी है 2 वर्षों में 9225 अपराधी गिरफ़्तार हुए और 81 मारे गये हैं. रासुका में प्रभावी कार्रवाई कर लगभग 2 अरब की सम्पत्ति जब्त की गयी है. डकैती, हत्या, लूट एवं अपहरण जैसी घटनाओं में अप्रत्याशित कमी आई है.

बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब कांग्रेस महासचिव प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था के लिए राज्य सरकार पर हमला बोल रही हैं. प्रियंका ने पिछले सप्ताह सरकार से प्रदेश में महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ बढ़ते अपराधों को लेकर सवाल किया था.

Back to top button