उत्तर प्रदेश

प्रियंका की तैयारी 2022 की, क्या अभी से 2019 की मान ली हार ?

अमेठी । भाई राहुल गांधी की अमेठी में लाज बचाने के लिए पहली बार कांग्रेस संगठन में पद पाने के बाद प्रियंका गांधी बुधवार को अमेठी पहुंची। उन्होंने वोटर्स से कम सपोर्टस से ज्यादा संवाद किया। मुसाफिरखाना के एएच कालेज में नौ घंटे की मैराथन बैठक के बाद वो देर रात वहां से बाहर निकली। कालेज से बाहर निकने के बाद प्रियंका का काफिला गौरीगंज के बाबूगंज स्थित कांग्रेस नेता फतेह बहादुर के निवास पर पहुंचा।

यहां पर उनको लड्डू से तौले जाने का कार्यक्रम था, करीब दस मिनट वो वहां रुंकी और फिर आगे के सफर पर निकल पड़ी। बुधवार को देर रात गौरीगंज के बेनी में प्रियंका गांधी की एक झलक पाने के लिए लोग जाग रहे थे। करीब साढ़े ग्यारह बजे जब उनका काफिला यहां पहुंचा तो वहां बैठी महिलाओं और बच्चियों ने प्रियंका पर पुष्प वर्षा की। यहां कांग्रेस नेता फतेह मोहम्मद ने प्रियंका को गांधी को लड्डुओं से वेट कर उन लड्डुओं को लोगों में बांटने का कार्यक्रम आयोजित किया था।

इस बीच जमा लोगों ने उनसे तराज़ू के एक पल्ले में बैठने को कहा तो उन्होंने हंसते हुए कहा अपनी जगह कांग्रेस नेता को बिठवा दिया और दूर खड़ी मुसकुराने लगी। कांग्रेसी नेता ने प्रियंका गांधी को तौले जाने के लिए एक कुंतल लड्डू मंगाए थे। मीडिया से बात करते हुए कांग्रेस नेता ने बताया कि यहां प्रियंका गांधी आई, लड्डू से तौलने के लिए बोला तो वे मुझे खुद बैठा दी।

वो हमको खुद तौली। उन्होंने हमें 2022 की तैयारी के लिए कहा, और राहुल जी के चुनाव में मेहनत करने के लिए कहा। उन्होंने ”मेरा बूथ मेरा गौरव” कार्यक्रम में करीब 9 घंटों तक बूथ वर्कर्स की क्लास लगाकर उन्हें 2019 का मंत्र दिया। उन्होंने वर्कर्स से कहा कि ये चुनाव बहुत महत्वपूर्ण है आप ठीक ढ़ंग से प्रचार करें। आप घर-घर में जाकर असलियत बताएं के ये चुनाव इस देश का इस देश को बचाने का चुनाव है। इसमें राहुल जी की जीत नहीं इसमें देश की जीत होगी।

Back to top button