जरा हट के

काम के प्रेशर से सिपाही था परेशान, छुट्टी के लिए लिखा ऐसा कारण, अफ़सर भी शरमा गए !

आज के जमाने में लोगों के लिए अपने ऑफिस से छुट्टी लेना काफी ज्यादा मुश्किल काम बन चुका है। आज ऑफिस स्टूडेंट हो या फिर किसी बड़ी कंपनी में काम करने वाला कोई कर्मचारी हर एक व्यक्ति छुट्टी मांगने के लिए तरह तरह की बीमारियों का बहाना बनाया करते हैं। परंतु जब उनके पास सभी बहाने खत्म हो जाते हैं तो ऐसे में कुछ लोग अपने ही परिवार के जिंदा सदस्यों को मार कर उनके नाम पर छुट्टी ले लिया करते हैं। आम लोगों के द्वारा ऑफिस में छुट्टी मांगी जाने की बात तो समझ आती है। परंतु अगर बात आम नागरिकों की सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मी की करें तो उनके लिए कुछ दिनों की छुट्टी किसी सुहाने सपने की तरह हुआ करते हैं। आपको बता दें कि जहां एक आम आदमी को त्योहारों के मौके पर छुट्टी मिला करती है वही पुलिस वालों को त्योहारों के मौके पर आम दिनों की तुलना में काफी ज्यादा काम करना पड़ता है। त्योहारों के मौके पर भी अपने परिवार वालों के साथ ना होने की वजह से इन पुलिस वालों को अपने परिवार की तरफ से कई सारी शिकायतों का सामना करना पड़ता है।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि जब कभी कोई पुलिस वाले को छुट्टी की जरूरत पड़ती है तो ऐसे में वह छुट्टी लेने के लिए अपनी अर्जी दे देते हैं। परंतु ज्यादातर मामलों में उनकी अर्जी को खारिज कर दिया जाता है। ज्यादातर मामलों में पुलिस कर्मियों के द्वारा दी जाने वाली अर्जी को खारिज कर दिए जाने की वजह से हाल के दिनों में ही एक सिपाही ने अपनी छुट्टी की अर्जी को मनवाने के लिए एक ऐसा कारण दिया था जिसकी वजह से उनके सीनियर भी उस पुलिसकर्मी को छुट्टी देने से खुद को रोक नहीं पाए। हालांकि उस पुलिसकर्मी के द्वारा छुट्टी पर जाने के पीछे की वजह के बारे में जानकर आप भी अपनी हंसी के ऊपर कंट्रोल नहीं कर पाएंगे।

ऐसा बताया जा रहा है कि यह घटना उत्तर प्रदेश के महोबा जिले के कोतवाली थाने की है। जहां थाने में एक कांस्टेबल सोम सिंह अपने काम से इतना ज्यादा परेशान हो गए थे कि वह अपने परिवार वालों को अपना कुछ वक्त देना चाहते थे। परिवार वालों के साथ वक्त बिताने की चाहत होने की वजह से उन्होंने अपने अफसरों के सामने छुट्टी की अर्जी लगाने की ठानी। ऐसा बताया जा रहा था कि कांस्टेबल सोम सिंह को 23 जून से लेकर 30 दिनों तक की छुट्टी चाहिए थी। परंतु इतने दिनों की छुट्टी लेने के लिए उन्हें किसी कारण की भी जरूरत थी। जिसकी वजह से उन्होंने अपने एप्लीकेशन में लिख डाला कि उन्हें अपने परिवार को बढ़ाने के लिए 30 दिनों की छुट्टी चाहिए। इस तरह का पहला एप्लीकेशन देखने के बाद हर किसी के मन में तो यही सवाल आ रहा था कि भला ऐसा भी एप्लीकेशन कोई छुट्टी लेने के लिए लिखता है क्या।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इस तरह के एप्लीकेशन को देने के बाद उनके सीनियर अधिकारियों ने किसी भी तरह की आपत्ति ना जताते हुए उनकी छुट्टी को मंजूर कर दिया। ऐसा बताया जा रहा है कि उस कांस्टेबल को 30 दिनों की छुट्टी के बजाय 45 दिनों की छुट्टी दे दी गई। उस कांस्टेबल के द्वारा दी गई छुट्टी की इस अर्जी की एक कॉपी सोशल मीडिया पर आज लोगों के बीच काफी ज्यादा वायरल हो रही है। हालांकि अब तक वायरल हो रही इस तस्वीर की पुष्टि किसी के द्वारा नहीं की गई है। पुलिस अफसरों की माने तो उन्हें इस तरह की कोई भी एप्लीकेशन प्राप्त नहीं हुई है जिसमें की छुट्टी मांगी गई हो।

Back to top button