आजम खान की यूनिवर्सिटी पर छापेमारी, मिलीं मदरसे से चोरी हुईं बेशकीमती किताबें

0
108

समाजवादी पार्टी के सांसद और यूपी के पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खान की मुश्किलें हर बीतते घंटे के साथ बढ़ती ही जा रही हैं. मंगलवार को रामपुर में आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी पर प्रशासन ने छापा मारा. छापे में पुलिस को करीब 300 किताबें अभी तक मिल चुकी हैं. पुलिस का कहना है ये किताबें चोरी की गई थीं.

दरअसल विश्वविद्यालय में जमीन की पैमाइश करने के लिए हुई इस छापेमारी के दौरान पुलिस ने विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी में जाकर भी जांच पड़ताल की. लाइब्रेरी में रामपुर के मदरसा आलिया से गायब हुई किताबों को लेकर छानबीन की गई. छापे के दौरान पत्रकारों और मीडियाकर्मियों को परिसर के अंदर प्रवेश करने की अनुमति नहीं थी, लेकिन बाहर आ कर एसपी डॉ अजय पाल ने बताया कि 1774 में स्थापित मदरसा आलिया से प्राचीन पुस्तकें चोरी हुई थीं, जो जौहर यूनिवर्सिटी की लाइब्रेरी से हुई  बरामद हुई हैं.

बता दें कि जौहर यूनिवर्सिटी में यह छापा उस वक्त पड़ा है जब पहले से ही आजम खान जमीन कब्जाने के मामले में कई केसों में घिरे हुए हैं. आजम खान पर पहले से ही अजीमनगर थाने में जमीन हड़पने को लेकर कुल 27 मुकदमे दर्ज हैं.

आजम खान और उनके सहयोगी आले हसन के खिलाफ 26 किसानों की 5 हजार हेक्टेयर जमीन हड़पकर मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय के निर्माण में इस्‍तेमाल करने का संगीन आरोप है. इस मामले में उनके खिलाफ कई मुकदमे दर्ज हुए हैं. वहीं, जिला प्रशासन ने आजम के खिलाफ कार्रवाई की है. एसडीएम की तरफ से उनका नाम ऐंटी-भू माफिया पोर्टल में दर्ज कर लिया गया.