गोरखपुर महोत्सव कार्यक्रम में बेकाबू हुई भीड़, पुलिस ने भांजी लाठियां

11 जनवरी को शुरू हुआ गोरखपुर महोत्सव का आयोजन हालांकि शांतिपूर्ण रहा, लेकिन शुक्रवार की रात महोत्सव में मालिनी अवस्थी और रवि किशन के कार्यक्रम के दौरान बेकाबू भीड़ पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया.तीन दिवसीय गोरखपुर महोत्सव का शनिवार को तीसरा और आखिरी दिन है. इससे पहले शुक्रवार को महोत्सव के कार्यक्रम में बेकाबू हुई भीड़ पर पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी.

कार्यक्रम के दौरान अभद्र टिप्पणी

दरअसल शुक्रवार की देर रात भोजपुरी गायक व अभिनेता रवि किशन ‘जिया हो बिहार के लाला’ गाने की प्रस्तुति दे रहे थे और मंच पर भोजपुरी गायिका मालिनी अवस्थी भी मौजूद थीं. उसी दौरान एक दर्शक ने अपना मोबाइल कैमरा ऑन किया और खबर है कि तभी अभद्र टिप्पणी भी की गई और पुलिस को इस मामले में दखल देना पड़ा. इसी दौरान भीड़ बेकाबू हो गई, जिसके बाद लोगों को शांत कराने के लिए पुलिस ने भी लाठीचार्ज किया. हालांकि इस घटना में किसी के हताहत होने की कोई सूचना नहीं है.

गोरखपुर महोत्सव पर विपक्ष का निशाना

आपको बता दें कि विपक्ष ने योगी सरकार के इस महोत्सव पर सवाल उठाए हैं. बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था कि उत्तर प्रदेश के करोड़ों किसान अपनी पैदावार का सही मूल्य नहीं मिल पाने के कारण तंगी, बदहाली व संकट का शिकार हैं. लेकिन योगी सरकार सपा के सैफई महोत्सव की तर्ज पर सरकारी धन को गोरखपुर महोत्सव में लुटा रही है.

वहीं, गोरखपुर महोत्सव के आयोजन पर अखिलेश ने कहा था कि हम तो कला-संस्कृति के हमेशा पक्षधर रहे हैं. हम गोरखपुर महोत्सव के पक्षधर हैं. इस तरह के आयोजन होते रहने चाहिए. हां, अब तो बराबरी हो गई है. अगर वहां पर कोई भी आयोजन हो रहा है तो सैफई से अच्छा महोत्सव कराएं.