देश

मोदी की बायोपिक: अब विवेक ओबेरॉय ने कह दी ऐसी बात, तय जानिए होना बवाल

चु’नाव के इस महा-सीज़न में अगर कोई चु’नावी फ़िल्म आ जाए, वो भी ऐसी जो ख़ुद प्रधानमंत्री की ज़िन्दगी पर आधारित हो तो उसको लेकर विवाद उठाना तय है. आचार संहिता के लागू हो जाने की वजह से इस प्रकार की फ़िल्म को अनुमति मिलती है या नहीं ये तो फ़ैसला चु’नाव आयोग को करना होता है. परन्तु जब इस फ़िल्म से जुड़े लोग ही ऐसी बात कर दें जो एक पक्ष को फ़ायदा पहुँचाने वाली हो तो मामला गंभीर हो जाता है.

जी हाँ, हम बात कर रहे हैं विवेक ओबेरॉय की आने वाली फ़िल्म “PM नरेंद्र मोदी’ की. ये फ़िल्म प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन काल पर बनी है, ऐसा बताया जा रहा है. ओबेरॉय की फ़िल्म आचार संहिता की वजह से विवाद में आ गई है. फ़िल्म के ट्रेलर में मोदी को महान व्यक्ति जैसा दिखाया जा रहा है जो आचार संहिता के उल्लंघन के दायरे में आ सकता है. इस फ़िल्म के ख़िलाफ़ वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक सिंघवी और कपिल सिब्बल ने PIL दाख़िल की है.

इस बारे में ओबेरॉय कहते हैं,”मुझे समझ नहीं आता कि लोग ओवर-रियेक्ट क्यूँ कर रहे हैं. इतने वरिष्ठ और मशहूर वकील जैसे अभिषेक सिंघवी जी और कपिल सिब्बल जी इस तरह की मॉडेस्ट फ़िल्म के ख़िलाफ़ PIL दाख़िल करके टाइम क्यूँ वेस्ट कर रहे हैं. मुझे नहीं पता कि वो फ़िल्म से डर रहे हैं या चौकीदार के डंडे से”.

ओबेरॉय ने मोदी को महान बताया. उन्होंने कहा,”हम मोदी जी को लार्जर देन लाइफ नहीं बना रहे हैं, वो लार्जर देन लाइफ हैं. हम उन्हें हीरो नहीं प्रोजेक्ट कर रहे हैं, वो हीरो पहले से ही हैं..मेरे लिए नहीं बल्कि करोड़ों भारतीय लोगों के लिए और विदेशी लोगों के लिए भी. ये एक इंस्पिरेशनल कहानी है जो हम परदे पर ला रहे हैं.

Back to top button