ख़बरदेश

यात्रीगण कृपया ध्यान दें ! रेलवे देगा आपकी जेब को तगड़ा फटका, जानिए कैसे 

रेल यात्रियों को लगने वाला है झटका, यह चार्ज लगने से किराया होगा महंगा!

भारतीय रेल आज यातायात का अहम साधन बन चुकी है आज बदलते समय के साथ देश में यातायात के अनेक साधन, जैसे- रेल, सड़क, तटवर्ती नौ संचालन, वायु परिवहन इत्यादि शामिल हो गये हैं. देशभर में ट्रेन हैं करोड़ों लोगों के जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा हमेशा से ही देश के सामाजिक-आर्थिक विकास में भारतीय रेल की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण रही है.आज भारतीय रेल देशभर में यातायात का मुख्य साधन होने के साथ ही देश के जीवन का भी जरूरी हिस्सा बन चुकी है. देश भर में  रेलगाड़ियों के आवागमन ने जहां एक ओर हमारे देश की कला, इतिहास और साहित्य पर अद्भुत प्रभाव डाला है तो वहीं हमारे देश के विभिन्न प्रांत के लोगों के बीच विविधता में एकता की अहम कड़ी को भी जोड़कर रखा है.

लेकिन इस बीच एक बड़ी खबर आ रही है. जिससे रेल यात्रियों को कभी दिक्कतों का सामना करना पद सकता है. बताते चले जानकारी के मुताबिक बताते चले ऑनलाइन रेल टिकट पर सफर करने वाले यात्रियों का खर्च थोड़ा बढ़ सकता है, क्योंकि रेलवे ऑनलाइन टिकट पर सर्विस चार्ज फिर से लगाने की तैयारी में है. जिसके बाद टिकट की कीमत में बढ़ोतरी हो जाएगी.  सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बताते चले दरअसल, अगर आप ऑनलाइन रेल टिकट बुक करते हैं तो अब आपको पहले से ज्यादा पैसा देना पड़ सकता है. मिल रही जानकारी के मुताबिक ई-टिकटों पर सर्विस चार्ज लगाने के प्रस्ताव पर फाइनेंस मिनिस्ट्री ने अपनी मुहर लगा दी है.

रेल यात्रियों को लगने वाला है झटका, यह चार्ज लगने से किराया होगा महंगा!

आगे बताते चले ऑनलाइन टिकट पर सर्विस चार्ज को लेकर बीते 3 अगस्त को रेल मंत्रालय का एक चिट्ठी सामने आया है. जिसमें ऑपरेटिंग कॉस्ट दोबारा वसूलने का जिक्र है. जिसमें मार्केटिंग और बिक्री सर्विस शामिल हैं. ऑनलाइन टिकट पर सर्विस चार्ज को लेकर 3 अगस्त को रेल मंत्रालय का एक खत सामने आया है. जिसमें ऑपरेटिंग कॉस्ट दोबारा वसूलने का जिक्र है. जिसमें मार्केटिंग और बिक्री सर्विस शामिल हैं. बता दें, 2014 में मोदी सरकार के आने के बाद डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से रेलवे ने ई-टिकटों पर सर्विस चार्ज खत्म कर दिया था. रेलवे नवंबर 2016 तक यात्रियों से ई-टिकट पर सर्विस चार्ज वसूलता था.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सर्विस चार्ज को फिर से लागू करने के लिए रेलवे बोर्ड के ज्वाइंट डायरेक्टर ट्रैफिक कर्मशियल (जनरल) बीएस किरन ने एक चिट्ठी लिखी है. जबकि इस पर वित्त मंत्रालय से इजाजत मिल चुकी है. हालांकि इस मामले में अभी IRCTC के डायरेक्टर्स चर्चा करेंगे और तभी सर्विस चार्ज की दर तय की जाएगी.  अगर फिर से ऑनलाइन टिकट पर सर्विस चार्ज लगाया जाता है तो फिर डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देने की दिशा में इसे एक बड़ा झटका माना जाएगा. क्योंकि फिर से यात्रियों की भीड़ रेलवे काउंटर पर बढ़ेगी. सर्विस चार्ज से बचने के लिए यात्री ऑनलाइन टिकट से परहेज करेंगे

Back to top button