देश

अगर आपके पास भी है प्लास्टिक आधार कार्ड है तो सावधान, सब काम छोड़कर पहले इसे पढ़ें…

एक तरफ जहां सरकार आधार कार्ड की अनिवार्यता पर जोर दे रही हैं! तो दूसरी तरफ अक्सर इसके प्रयोग को लेकर कई तरह की बाते सामने आती रही हैं! अब खुद UIDAI यानी भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण ने इसके प्रयोग को लेकर नागरिकों को चेताया है! यूआइडीएआइ का कहना है कि अगर किसी ने आधार कार्ड को दुकान से लेमिनेशन करा लिया है! या फिर प्लास्टिक वाले Smart card इस्तेमाल कर रहे हैं! तो फिर उन्हें सावधान रहने की जरूरत है! क्योंकि ऐसा करने से आपकी निजी जानकारी चोरी होने का खतरा बढ़ जाता है!

अक्सर लोग लेमिनेटेड और प्लास्टिक वाले आधार कार्ड को ही सही मानते हैं! ऐसे में UIDAI ने बयान जारी करते हुए कहा है! कि , आधार लेटर, इसका कटअवे पोर्शन, साधारण कागज पर डाउनलोडेड वर्जन या फिर मोबाइल आधार ये सभी पूरी तरह से मान्य है! जबकि प्लास्टिक या आधार Smart card कोई खास जरूरी नहीं हैं! क्योंकि एक तरफ जहां ऐसे आधार स्मार्ट कार्ड की प्रिटिंग पर 50 से 300 रुपये तक का खर्च आता है, जो कि बिल्कुल ही अनावश्यक है!

साथ ही प्लास्टिक आधार की कमियां बताते हुए UIDAI ने कहा है कि अक्सर प्रिंटिंग की अच्छी क्वालिटी नहीं होने की वजह से इनके QR code आमतौर पर खराब हो जाता है! जिसके बाद उन्हें स्कैन नहीं किया जा सकता है! इस तरह ये स्मार्ट आधार कार्ड किसी काम के नहीं रह जाते! और सबसे बड़ी बात ये है कि इससे आपके पर्सनल आधार डिटेल चोरी होने की आशंका भी बढ़ जाती है!

UIDAI ने सभी नागरिकों को इस बात के लिए भी चेताया है कि वे अपना आधार नंबर और पर्सनल डिटेल किसी भी अनाधिकृत एजेंसी से कभी शेयर ना करें! यहां तक कि अपने आधार को लैमिनेट या प्लास्टिक कार्ड पर प्रिंट कराते वक्त भी ऐसा ना करें! इस बारे में अनाधिकृत एजेंसियों को भी निर्देश दिया गया है! कि वे भी आधार कार्ड को प्रिंट करने के लिए लोगों से उनकी डिटेल ना मांगे! अगर कोई ऐसा करता है तो ये Indian Penal Code and Aadhaar Act, 2016 के तहत एक तरह का criminal ऑफेंस होगा!

Back to top button