मासिक धर्म वाली झोपड़ी ने फिर ली एक जान, कबतक यूं बलि चढ़ती रहेंगी महिलाएं ?

0
60

नेपाल के अछाम जिले में मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को रहने के लिए गांव से बाहर बनाई गई झोपड़ी में सोमवार को एक 21 वर्षीया महिला की मौत हो गई है. यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट से मिली.

रिपोर्ट के मुताबिक, महिला की पहचान पार्वती बुद्धा रावत के रूप में हुई है जिन्हें माहवारी के दौरान मलेख गांव झोपड़ी में भेज दिया गया था. घर से झोपड़ी की दूरी मात्र सौ मीटर है. पार्वती की शादी 18 महीने पहले हुई थी.

पुलिस उपाधीक्षक जनक बहादुर शाही ने कहा कि महिला की मौत संभवत: दम घुटने से हुई है, क्योंकि रात में घर को गर्म रखने के लिए आग जलाई गई थी. परिजनों को सोमवार सुबह पार्वती की लाश मिली.

नेपाल में माहवारी के दौरान महिलाओं को अपवित्र माना जाता है और उन्हें घर से बाहर खास तौर पर इस उद्देश्य से बनाई गई झोपड़ी में रहने के लिए भेज दिया जाता है.