देश

पारले-जी पर भारी पड़ रही जीएसटी, 10 हजार लोगों को बेरोजगार करने की तैयारी

देश की सबसे बड़ी बिस्किट कंपनी पारले प्रॉडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड इन दिनों घाटे में चल रही है. बाजार में हो रही मंदी की वजह से यह सब हो रहा है. कंपनी ने 10,000 से भी ज्यादा कर्मचारियों को काम से हटाने का फैसला किया है. एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में मंदी के कारण आटोमोबाइल्स से लेकर रिटेल प्रोडक्ट सेक्टर तक प्रभावित हुआ है.

मंदी में आई भारी गिरावट के चलते उत्पादन और भर्ती पर लगाम लगाना पड़ रहा है. कई रिपोर्ट्स के अनुसार पार्ले के केटेगरी हेड मयंक शाह का कहना है कि, हमने जीएसटी में कटौती की मांग की है … लेकिन अगर सरकार ये नही करती है तो हमारे पास 8,000-10,000 लोगों को नौकरी से निकालने के अलावा कोई विकल्प नही बचेगा.

बता दें कि इस महीने की शुरुआत में बिस्कुट बनाने वाली कंपनी ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज लिमिटेड के प्रबंध निदेशक वरुण बेरी ने कहा था कि उपभोक्ता सिर्फ 5 रुपये के उत्पाद खरीदने के बारे में दो बार सोच रहे थे. जाहिर है अर्थव्यवस्था में कुछ गंभीर समस्या है.

इससे पहले कपडा उद्योग ने अख़बार में विज्ञापन छपवाकर चेतवानी दी थी कि मांग कि कमी के कारण बड़ी संख्या में नौकरियां जा सकती हैं. इसी तरह चाय उद्योग भी इसी मंदी की समस्या से जूझ रहा है.

Back to top button