जरा हट के

शिक्षक के सवाल पर जब छात्रा ने दिल्‍ली को बताया पाकिस्‍तान की राजधानी, पूरा मामला आपको भी सोचने पर कर देगा मजबूर

आजकल के बच्चे बहुत स्मार्ट हो रहे हैं। उन्हें कुछ सिखाने या बताने की ज़रूरत नहीं होती। उनकी यही स्मार्टनेस पैरेंट्स के लिए अनेक मुश्किलें खड़ी कर देती हैं, जिन्हें हैंडल करना उनके लिए आसान नहीं होता। आज ऐसा ही एक मामला सामने आया जो कि दिल्ली का है दरअसल हुआ ये कि दिल्‍ली के एक स्‍कूल में जब शिक्षक अपने छात्रों से सवाल जवाब कर रहा था तब उसे हैरान कर देने वाला जवाब एक छात्रा से मिला। बता दें कि उस समय कक्षा में सोशल स्टडी की पढ़ाई हो रही थी तभी शिक्षक ने छात्रों से प्रश्न किया। आइए जानते हैं क्‍या था वो प्रश्‍न

सवाल था कि “पाकिस्तान कि राजधानी” कहां है ?

एक छात्रा ने जवाब दिया: दिल्ली

शिक्षक : क्या बोल रही हो, पाकिस्तान की राजधानी दिल्ली कैसे?

छात्रा : जब आप, “भारत की राजधानी दिल्ली” में, अगर कभी,” घूमने” आएंगे तभी आपको पता चल जाएगा कैसे।

इतना ही नहीं उसने ये चीज सिद्ध करके भी दिखाया उसने बताया कि “शाहजहां” रोड़ से निकलकर, “अकबर” रोड़ पर पहुँच जायेंगे, आगे जाकर, “बाबर” रोड़ पर मुड़ जायेंगे । फिर “हुमायूं” रोड़ पर सीधे चले जाइयेगा वहां एक गोल चक्कर मिलेगा, जहाँ से आप, “तुगलक” लेन में घुस जायेंगे, “लोधी” रोड़ पर आगे बढिये “सफदरजंग” रोड आएगा इसके बाद, “तुगलकाबाद” एवं “जामिया नगर” होते हुए, “कुतुबमीनार” तक जाइए और जब इस “सूफियाने माहौल’ में, “दम घुटने लगे” तो “सराय कालेखाँ” होते हुए…”निजामुद्दीन” रेलवे स्टेशन से,अपने शहर की, “रेलगाड़ी” में बैठिए और घर वापस आ जाइये। अब बताइए क्‍या पाकिस्‍तान की राजधानी दिल्‍ली है या नहीं?

ना ही महाराणा प्रताप ना वीर शिवाजी ना बाबू राजेंद्र प्रसाद ना वीर कुँअर सिंह और ना ही लक्ष्मी बाई इन सभी नामों को भुलाकर सिर्फ और सिर्फ कांग्रेस ने मुस्लिम नामों को स्‍थान दिया। वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 2014 में मोदी सरकार के आते ही दिल्ली में औरंगजेब नाम की सड़क को हटा दिया गया जिसका कांग्रेस ने खूब विरोध भी किया था।

Back to top button