ओवैसी के नेता ने फैलाई कोरोना पर अफवाह, फेक पोस्ट देखते ही उठा लाई पुलिस

0
88

कोरोना के कहर पर लगाम लगाने के लिए देश 21 दिनों के लिए लॉकडाउन है। केंद्र के साथ राज्य सरकार लोगों को इस बीमारी से बचाव और इसके प्रति सजग रहने के लिए जागरुक कर रही है तो वहीं तमाम लोग अफवाह फैलाकर लोगों को भ्रमित कर रहे हैं। ताजा मामला प्रयागराज से है। यहां एआईएमआईएम के जिलाध्यक्ष मंसूर आलम को पुलिस ने सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

नैनी कोतवाली क्षेत्र के गंजिया मोहल्ला निवासी मंसूर आलम को एआईएमआईएम पार्टी प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के करीबी बताया जाता है। उन्होंने मंगलवार को फेसबुक अकाउंट पर एक पोस्ट की। जिसमें लिखा- भारत में 500 नहीं, बल्कि 50,000 से ज्यादा लोग कोरोनावायरस से मर चुके हैं। सरकार झूठ बोल रही है।

महज कुछ मिनट बाद उनकी यह पोस्ट वायरल हो गई। मामला पुलिस के संज्ञान में आया।क्षेत्राधिकारी करछना आशुतोष तिवारी ने बताया कि नैनी पुलिस ने मंसूर आलम को गिरफ्तार कर लिया। उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

ये है कोरोना केस की सच्चाई
देश के 24 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश कोरोना संक्रमण की चपेट में हैं। संक्रमितों की संख्या बुधवार सुबह तक 567 हो गई, अब तक 11 लोगों की जान गई है। तमिलनाडु के मदुरै में सुबह 54 वर्षीय संक्रमित मरीज ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।