ख़बरदेश

बालाकोट में हुआ था ऑपरेशन ‘बंदर’, ये है एयर स्ट्राइक का ‘हनुमान’ कनेक्शन

26 फरवरी की सुबह. भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर एयर स्ट्राइक की थी. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले का बदला लेने के लिए. वायुसेना ने बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को निशाना बनाया और इस ऑपरेशन का कोडनेम दिया था- ऑपरेशन बंदर.

जी, भारतीय सेना के विश्वसनीय सूत्र ने बताया है कि बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक का कोड नाम ‘ऑपरेशन बंदर’ दिया गया था. इस अभियान में 12 मिराज फाइटर जेट के जरिए बालाकोट में आतंकी ठिकानों को तबाह किया गया था. मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया कि इस ऑपरेशन में करीब 250 आतंकी मारे गए थे.

ऑपरेशन बंदर इतना गोपनीय रखा गया था कि पाकिस्तान को उस समय तक इसकी भनक नहीं लगी, जब तक की भारतीय वायुसेना के मिराज विमान अपने मिशन को अंजाम देकर भारतीय क्षेत्र में वापस नहीं लौट आए. जब पाकिस्तान को इसकी जानकारी लगी, तो वह बौखला गया था. इसके बाद पाकिस्तान ने भारतीय क्षेत्र में हवाई हमला किया था, जिसका भारतीय वायुसेना ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया था.

सूत्रों ने कहा कि ‘बंदर’ नाम इसलिए दिया गया क्‍योंकि बंदरों की हमेशा से ही भारत के युद्ध इतिहास में अहम भूमिका रही है. रामायण काल में भी भगवान राम की सेना के सेनापति हनुमान थे. जिन्‍होंने लंका में घुसकर उसे तहस-नहस कर दिया था.

आपको बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए थे. इस आतंकी हमले के बाद ही भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक की थी. इन घटनाओं के चलते भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव भी काफी देखने को मिला.

 

Back to top button