पानी में बस आधा चम्मच नमक मिलाके करें स्नान, फिर देखिए कमाल

0
87

ये तो हम सभी जानते हैं की सर्दी का मौसम आ चुका है और इसमें कोई दो राय नहीं है की सर्दियाँ आते ही काफी लोग नहाने से कतराने लगते है, खास कर उस समय जब पानी काफी ठण्डा हो। वैसे अगर देखा जाए तो कुछ लोगो के लिए रोज सुबह उठकर ठण्डे पानी से नहाना बिल्कुल आम बात है। नहाना हमारे दिनचर्या का एक अहम भाग है, जिसे सभी को प्रतिदिन करनी चाहिए।

नहाने से हमारा शरीर बाहरी रूप से साफ़ और बिमारियों से दूर रहता है। अच्छे स्वास्थ्य और सुंदर शरीर के लिए जरूरी है रोज नहाना। जो लोग प्रतिदिन नहाते हैं, उन्हें स्वास्थ्य की दृष्टि से कई लाभ प्राप्त होते हैं। माता-पिता बच्चो को बचपन से ही रोज़ स्नान करने की आदत डलवाते है।

यदि आप सर्दियों के दिनों में नहाने के पानी में मात्र आधे चम्मच नमक का इस्तेमाल करे तो यह आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होगा। यदि आप अपने नहाने के पानी में मात्र आधा चम्मच नमक डालकर नहाये तो इससे आपके शरीर में फंगल इन्फेक्शन होने का खतरा पूरी तरह से खत्म हो जाएंगा। आपने अक्सर देखा होगा कि पैर के उँगलियों के बीच कभी कभी दरारें आ जाती है, जो काफी मुश्किल से खत्म होता है। यदि नहाने के पानी में आप नमक का प्रयोग करे तो इस परेशानी से आपको छुटकारा मिल जाएगा। आज हम आपको इसी से जुड़ा हुआ एक ऐसा आसान उपाय बताने जा है, जिसे करने से आपके शरीर को ऐसे फायदे मिलेंगे जिसे देखकर आप भी चौक जाएँगे।

तो चलिए आपको बताते है, वो उपाय और उसके खास फायदे

यदि पानी में नमक का प्रयोग करे तो इससे त्वचा के डेड स्किन सेल्स शरीर से निकल जाते है और आपकी त्वचा में निखार आ जाता है।

यदि आप अपने नहाने के गर्म पानी में थोड़ी मात्रा में नमक का प्रयोग करें तो इससे आपके शरीर की पूरी थकान समाप्त हो जाएंगी और आप काफी आरामदायक महसूस करेंगे।

ऐसे लोगो को अक्सर देखा गया है, जिनके शरीर में लगातार दर्द बना रहता है, ऐसे में यदि आप गर्म पानी में नमक डाल कर नहाये तो आपको इस दर्द में आराम मिलेगा और इससे आपके जोड़ो का दर्द में भी कम हो जाएगा।

नाखूनों को मजबूत और चमकदार बनाने के लिए एक चम्मच नमक, 1 चम्मच बेकिंग सोडा और नींबू के रस को आधे कप गर्म पानी में मिलाएं। फिर अपने नाखूनों को इस घोल में डुबोकर रखें। फिर नाखूनों को धोकर मॉइश्चराइज़ करें।

शास्त्रों में समय अनुसार स्नान के कई प्रकार बताए गए हैं। पानी या किसी अन्य तरल में शरीर को डुबाकर या बिना डुबाये शरीर को धोना स्नान कहलाता है। स्नान कई प्रयोजनोंके लिये किया जाता है; जैसे- स्वच्छता, धार्मिक अनुष्ठान, चिकित्सकीय कारण आदि। लोग चॉकलेट, कीचड़, दूध, शम्पेन आदि में भी स्नान करते हैं। सूरज के प्रकाश में खुले बदन बैठना या लेटना भी स्नान (सूर्य स्नान) कहलाता है। तो अब आप भी सर्दीयां आ चुकी हैं और ऐसे में नमक को पानी में मिलाकर नहाना शुरू कर दें क्योंकि ऐसा करने से आपकी त्वचा तो स्वस्थ रहेगी ही इसके साथ ही साथ आपका शरीर भी स्वस्थ रहेगा।