बच्चा चोरी के शक में  महिला को भीड़ ने पीट-पीकर उतारा मौत के घाट, फिर किया ये हाल

0
9

mob lynching of woman in Ayodhya

अयोध्या  । पुलिस प्रशासन की कोशिशों के बावजूद जिले में बच्चा चोर की अफवाह थमने का नाम नहीं ले रही है। बच्चा चोर के शक में सोमवार को एक विक्षिप्त महिला को अपनी जान गवानी पड़ी। पुलिस ने मामले में चार लोगों को हिरासत में लेकर प्रकरण की पड़ताल और पूछताछ शुरू कर दी है। घटना कर थाना क्षेत्र के गांव कोट सराय की है।

कैंट थाना क्षेत्र के गांव कोर्ट सराय में सोमवार सुबह 35 वर्षीय विक्षिप्त महिला को गांव वासियों ने बच्चा चोर समझकर दौड़ा लिया। जान बचाने के लिए विक्षिप्त महिला तेजी से भागी और कुछ दूर पर स्थित एक खंभे में जा टकराई। खंभे में टकराने के कारण उसके सिर में गंभीर चोटें आई। चर्चा यह भी है कि महिला को घायल होने के बाद भी हैवान बनी भीड़ ने नहीं बख्शा और उसे बच्चा चोर होने के शक में एक पेड़ में बांधकर पिटाई की। इसी बीच किसी ने मामले की जानकारी पुलिस कंट्रोल रूम और थाना कैंट को दी।

पुलिस को सूचना मिली कि एक महिला को बच्चा चोर समझकर ग्राम वासियों द्वारा पेड़ में बांधकर पिटाई की जा रही है तो कांस्टेबल जितेंद्र यादव घटनास्थल पर पहुंचे और महिला को गंभीर हालत में लाकर जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया। हालांकि विक्षिप्त महिला ने उपचार के दौरान कुछ देर बाद ही दम तोड़ दिया।

जिला अस्पताल में इमरजेंसी ड्यूटी पर तैनात डॉ आशीष पाठक ने बताया कि महिला को गंभीर चोट आई थी। उसकी जिंदगी बचाने के लिए भरसक कोशिश की गई लेकिन उपचार के दौरान महिला ने दम तोड़ दिया। शव को मोर्चरी में रखवाते हुए पोस्टमार्टम के लिए मेमो पुलिस को भिजवाया गया है। मृतका की अभी शिनाख्त नहीं हो पाई है।  क्षेत्राधिकारी नगर अरविंद चौरसिया का कहना है कि उन्होंने जिला अस्पताल पहुंच हालात का जायजा लिया। घटनाक्रम को लेकर दो अलग-अलग बातें प्रकाश में आ रही हैं। ज्यादातर लोगों का कहना है कि उक्त महिला काफी दिनों से कोटसराय गांव के आसपास टहलती रहती थी। कुछ ग्रामीणों ने उसको डांट दिया और वह भागी तथा एक खंभे से जा टकराई और घायल हो गई।