देश

क्या भारत ने पाकिस्तानी जेट को मार गिराया? अमेरिका की गिनती कहती है- नहीं

अमेरिकी कंपनी लॉकहिड मार्टिन द्वारा बनाया गया लड़ाकू विमान F-16 (फोटो-रॉयटर्स)

अमेरिका की एक पत्रिका ‘फॉरेन पॉलिसी’ ने दावा किया है कि पाकिस्तान के सभी F-16 लड़ाकू विमान सुरक्षित मौजूद हैं. भारत का फरवरी में हुए संघर्ष के दौरान अपने लड़ाकू विमान से पाकिस्तानी एफ-16 लड़ाकू विमान को मार गिराने का दावा गलत हो सकता है. बताते चले ये विमान पाकिस्तान ने अमेरिका से खरीदे थे. अमेरिका की पत्रिका फॉरेन पॉलिसी ने अमेरिकी सुरक्षा अधिकारियों के हवाले से दावा किया है कि 27 फरवरी को भारत की ओर से एक अमेरिकी F-16 विमान को मार गिराने का दावा गलत हो सकता है.” फॉरेन पॉलिसी ने कहा है कि ये सूचना उन्हें अमेरिका के दो रक्षा अधिकारियों के हवाले से मिली है जो इस मामले से सीधे जुड़े हैं.

” पत्रिका ‘फॉरेन पॉलिसी’ के अनुसार, पाकिस्तान ने इस घटना के बाद अमेरिका को खुद पाकिस्तान आकर एफ-16 विमानों की गिनती कर लेने की पेशकश की थी,

बता दें कि 26 फरवरी को बालाकोट पर भारत के एयर स्ट्राइक के बाद 27 फरवरी को पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों ने भारतीय एयरस्पेस में घुसने की नाकाम कोशिश की थी. इस दौरान भारत की वायुसेना और पाकिस्तानी एयरफोर्स के बीच आसमान में भिड़ंत हुई थी. भारत का कहना है कि विंग कमांडर अभिनंदन ने मिग-21 से एक अमेरिकी F-16 फायटर एयरक्राफ्ट को मार गिराया था. इस भिडंत में भारत का मिग-21 भी पाकिस्तानी फायरिंग में चपेट में आ गया था.

मिग-21 से सुरक्षित लैंडिंग की कोशिश में एयरफोर्स कमांडर पाकिस्तान की सीमा में चले गए थे, जहां पाकिस्तानी सेना ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था. हालांकि भारत के दबाव में पाकिस्तान ने मात्र 48 घंटों के अंदर उन्हें रिहा कर दिया

खबरों के अनुसार भारतीय वायुसेना ने 28 फरवरी को सबूत के तौर पर AMRAAM मिसाइल के टुकड़े दिखाए थे, जिन्हें पाकिस्तानी एफ-16 विमान से दागा जाता है. लेकिन उससे इस बात के कोई सबूत नहीं मिलते कि अभिनंदन वर्धमान ने पाकिस्तानी एफ-16 विमान को मार गिराया था, जैसा भारत सरकार और भारतीय वायुसेना बार-बार दावा करती रहीं.

पत्रिका ‘फॉरेन पॉलिसी’ के अनुसार, पाकिस्तान ने इस घटना के बाद अमेरिका को खुद पाकिस्तान आकर एफ-16 विमानों की गिनती कर लेने की पेशकश की थी, जैसा इस सैन्य बिक्री समझौते की शर्तों में दर्ज था. ‘फॉरेन पॉलिसी’ की लारा सैलिगमैन के मुताबिक, “पाकिस्तान के एफ-16 विमानों की अमेरिका द्वारा की गई गिनती में सभी विमान मौजूद पाए गए, जो भारत के उस दावे से पूरी तरह विरोधाभासी है कि उसने फरवरी में हुए संघर्ष में एक लड़ाकू विमान मार गिराया था…”

 

एक अनाम अधिकारी के हवाले से कहा गया

“गिनती पूरी हो गई है, और सभी विमान मौजूद हैं…” ‘फॉरेन पॉलिसी’ के मुताबिक, “मुमकिन है कि संघर्ष के दौरान मिग-21 बाइसन में सवार (अभिनंदन) वर्धमान ने पाकिस्तानी एफ-16 पर निशाना लॉक कर लिया हो, मिसाइल दागी भी हो, और उन्हें वास्तव में लगता हो कि उनका निशाना अचूक रहा. लेकिन पाकिस्तान में अमेरिकी अधिकारियों द्वारा की गई गिनती भारत के पक्ष पर शक पैदा करती है, और संकेत देती है कि भारतीय अधिकारियों ने संभवतः अंतरराष्ट्रीय समुदाय को उस दिन की घटनाओं के बारे में गुमराह किया…”

बता दे इस मामले में रक्षा विभाग ने  अभी पाकिस्तान में एफ-16 लड़ाकू विमानों की गिनती पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। एमआईटी प्रोफेसर विपिन नारंग ने पत्रिका से कहा, ‘ऐसा लग रहा है कि भारत पाकिस्तान को नुकसान पहुंचाने में नाकाम रहा बल्कि उसने इस प्रक्रिया में अपना एक विमान और हेलीकॉप्टर गंवा दिया।”

Back to top button