ख़बरदेश

IS मॉड्यूल मामला: चार संदिग्धों की तलाश में पांच स्थानों पर एनआईए की छापेमारी, मिले ISIS के झंडे

National Investigation Agency (NIA) conducting raids at 5 locations in Amroha

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और एटीएस ने अमरोहा जनपद में डेरा डाला हुआ है। टीम चार संदिग्धों की तलाश में नोगावा समेत पांच जगहों पर छापेमारी की है। तीन संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। ये सभी संदिग्ध आतंकियों के सम्पर्क में थे। एनआईए ने दिल्ली और उत्तर प्रदेश समेत अबतक 17 ठिकानों पर छापेमारी की है | आईएसआईएस के नए मॉड्यूल हरकत-उल-हर्ब-ए-इस्लाम का सरगना मुफ्ती मोहम्मद हाफिज सुहैल समेत चार संदिग्ध आतंकी एनआईए की रिमांड पर हैं। यूपी में उनके क्या मंसूबे थे, इसको लेकर तब से एनआईए की टीम आतंकियों से पूछताछ कर रही है। एनआईए और एटीएस की टीम सईद व रईस को लेकर मंगलवार को उसके घर पहुंची। तलाशी के दौरान टीम ने उसके घर से कुछ सामान बरामद किया हैं। टीम ने कुछ स्थानों की रेकी भी की। इनके पास से आईएसआईएस के पम्पलेट में मिल है।

ये संगठन के स्लीपर सेल के तौर पर काम कर रहे थे। पूछताछ में अमरोहा से जुड़े कुछ अहम सुराग हाथ लगे हैं। फिलहाल अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। जिन संदिग्धों की तलाश टीम कर रही है उनकी उम्र 20-22 वर्ष के बीच की है। इस संगठन के कई लोग एनआईए की रडार पर हैं। एनआईए के आईजी ने बताया कि अभी पूछताछ में जो पता चला है वो यह है कि इस गिरोह के मास्टरमाइंड यूपी के अमरोहा का एक मौलवी मुफ्ती सोहेल था, जो दिल्ली का रहने वाला है।

वह मौलवी अमरोहा में रहने वाले लोगों को इस गिरोह में शामिल करता था। वह लोग विदेश में बैठे किसी शख्स के सभी संपर्क में थे। इस गिरोह का मकसद था आने वाले दिनों में कई बड़े जगहों पर धमाके करके दहशत फैलाना था। उल्लेखनीय है कि एनआईए ने दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल और यूपी एटीएस टीम ने दिल्ली के जाफराबाद और सीलमपुर में छह स्थानों और उत्तर प्रदेश में अमरोहा में छह, लखनऊ में दो, हापुड़ में दो और मेरठ में दो स्थानों पर छापेमारी की कार्रवाई के बाद संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया था। अभी कुछ लोग अमरोहा में छिपे हुए हैं, जिनकी तलाश में एनआईए व एटीएस अमरोहा में डेरा डाला हुआ है।

Back to top button