उत्तर प्रदेशख़बर

शिवपाल से किनारे किये नेताजी, रिश्ते में दरार या चुनावी रणनिति ?

Image result for मुलायम शिवपाल के रिश्ते में दरार

इटावा.  पल पल बदलते बयानो से हर किसी को असमंजस में डालने वाले समाजवादी पार्टी (सपा) सरंक्षक मुलायम सिंह यादव ने लोकसभा चुनाव के मद्देनजर शुक्रवार को अपने अनुज एवं प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव से दूरी बनाने के संकेत दिये।

सिविल लाइन स्थित आवास पर शुक्रवार को पत्रकारों से बातचीत में श्री मुलायम ने कहा कि प्रसपा का गठन कर चुके भाई शिवपाल से उनका कोई मतलब नहीं है क्योंकि जहां शिवपाल ने अपने उम्मीदवारों को उतारा हुआ है वही से वह खुद चुनाव मैदान में हैं ।
प्रसपा प्रत्याशियों के प्रचार के लिये जाने संबंधी एक सवाल के जवाब में सपा सरंक्षक ने कहा “ कौन कहां किसके लिए प्रचार करने के लिए जाएगा यह तो पता नही क्योंकि मैं खुद भी चुनाव लड़ रहा हूं।

मैं क्यो चिंता करूं कि कौन शिवपाल की रैली में जाता है कौन नही, रैलियां तो होती रहती है। अगर किसी को बधाई देनी है तो मुझे दे मैं भी तो चुनाव लड़ रहा हूँ। ”

गौरतलब है कि पिछली 21 मार्च को शिवपाल होली के मौके पर बडे भाई मुलायम से आर्शीवाद लेने सिविल लाइन स्थित आवास आये थे जहां बंद कमरे मे दोनो की काफी देर तक बातचीत हुई।

इस बातचीत का खुलासा तो नहीं हो सका लेकिन इसका असर सैफई मे मुलायम की होली मे जरूर दिखाई दिया क्योंकि मुलायम के आंगन मे होली जश्न मे शिवपाल और उनके बेटे के अलावा प्रसपा का कोई छोटा बडा नेता नही आया जबकि सपा महासचिव प्रो रामगोपाल यादव,अखिलेश यादव,धर्मेद्र,तेजप्रताप,अनुराग,अभिषेक,कार्तिकेय के अलावा मुलायम परिवार के अन्य गैर राजनैतिक सदस्य नजर आये । शिवपाल ने अपनी होली का जश्न अपने पिता के नाम पर बनाये एसएस मैमोरियल स्कूल मे जमाया ।

Back to top button